×

पीएम मोदी ने बताया 5 ट्रिलियन अर्थव्यवस्था का मतलब, बोले- सवाली हैं निराशावादी

पीएम मोदी ने बताया 5 ट्रिलियन अर्थव्यवस्था का मतलब, बोले- सवाली हैं निराशावादी

- Advertisement -

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) शनिवार सुबह अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी (Varanasi) पहुंचे। इस दौरान यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ और बीजेपी (BJP) के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पुस्तक भेंट करके उनका स्वागत किया। एयरपोर्ट पर मोदी ने पूर्व पीएम लाल बहादुर शास्त्री की कांस्य मूर्ति का अनावरण किया। उन्होंने हरहुआ गांव में पौधरोपण अभियान (Plantation campaign) की शुरुआत की। इसके बाद मोदी ने वाराणसी में बीजेपी के महा-सदस्यता अभियान की शुरुआत की। यहां आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि अमरत्व प्राप्त वाराणसी से हम सदस्यता अभियान की शुरुआत कर रहे हैं।


यह भी पढ़ें :-वाराणसी में पीएम मोदी : शास्त्री की मूर्ति का किया अनावरण, पौधरोपण अभियान की भी शुरुआत

इस दौरान पीएम मोदी ने पांच ट्रिलियन अर्थव्यवस्था (Five trillion economy) अर्थ बताते हुए कहा कि दौड़ना ही न्यू इंडिया का सरोकार है। भारतीय अर्थव्यवस्था में पूरी संभावना है। हमारे सपने 5 ट्रिलियन अर्थव्यवस्था से जुड़े हुए हैं। उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था को 5 ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था बनाने को लेकर देशवासी प्रयास कर रहे हैं। ये जो लक्ष्य आज मुश्किल दिखता है उसे हम जनभागीदारी से पूरा करने वाले हैं। बजट में सोशल स्टॉक एक्सचेंज की घोषणा की गई है। इसके तहत संगठन पूंजी जुटा पाएंगे और विकास का काम करेंगे। पीएम मोदी ने कहा कि जो लोग पांच ट्रिलियन अर्थव्यवस्था पर सवाल उठाने वाले लोग पेशेवर निराशावादी हैं। पीएम ने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था को 1 ट्रिलियन तक पहुंचने में साठ साल लग गए। लेकिन हमने पांच साल में एक ट्रिलियन औऱ जोड़ दिए। यह अपने आप में सबूत है कि अगर हम लक्ष्य लेकर चले तो हम उसे हासिल कर सकते हैं। हर घर को आय बढ़ाने का लक्ष्य लेकर चलना होगा। हमें इसके लिए मेहनत करने पड़ेगा।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है