×

#PMModi ने रखी नए #संसद_भवन की नींव, बोले – गर्व करेंगी आने वाली पीढ़ियां

2022 तक बना कर तैयार होगा नया भवन, आकर्षक और आधुनिक सुविधाओं से होगा लैस

#PMModi ने रखी नए #संसद_भवन की नींव, बोले – गर्व करेंगी आने वाली पीढ़ियां

- Advertisement -

नई दिल्ली। संसद भवन की तस्वीर अब बदलने वाली है। पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने आज दिल्ली में नए संसद भवन (New Parliament House) की नींव रखी। नींव रखने से पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने भूमि पूजन में हिस्सा लिया। कार्यक्रम में कई हस्तियां मौजूद रहीं। गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और अन्य कई केंद्रीय मंत्री कार्यक्रम स्थल पर मौजूद रहे। नींव रखने के बाद पीएम मोदी ने कहा कि आज इंडिया गेट से आगे नेशनल वॉर मेमोरियल (National War Memorial) ने नई पहचान बनाई है, वैसे ही संसद का नया भवन अपनी पहचान स्थापित करेगा। आने वाली पीढ़ियां नए संसद भवन को देखकर गर्व करेंगी कि ये स्वतंत्र भारत में बना है।


 

 

आजादी के 75 वर्ष का स्मरण करके इसका निर्माण होगा। भारत का लोकतंत्र पश्चिमी देशों को समझाया जाता है। जब हम विश्वास के साथ अपने लोकतांत्रिक इतिहास का गौरवगान करेंगे तो वो दिन दूर नहीं जब दुनिया भी कहेगी- India is mother of democracy (भारत लोकतंत्र की जननी है)।

 

 

आजादी के 75 साल पूरे होने यानी 2022 तक ये नई बिल्डिंग तैयार हो जाएगी। नया भवन मौजूदा भवन से अधिक बड़ा, आकर्षक और आधुनिक सुविधाओं वाला है। हमारे नए संसद भवन में क्या खास है और इससे जुड़ी प्रमुख बातें हम आपको बताते हैं –

 

 

  • नई बिल्डिंग में आधुनिक तकनीक और जरूरतों का ध्यान रखा जा रहा है। अगस्त 2019 में मौजूदा लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला और उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू की ओर से नए संसद भवन का प्रस्ताव रखा गया।
  • प्रस्ताव के मुताबिक, नया संसद भवन 64500 स्क्वायर मीटर में बनाया जाएगा, जो चार मंजिला होगा और इसका खर्च 971 करोड़ रुपए आएगा। इस संसद भवन को 2022 तक तैयार किया जाएगा।

 

 

  • सभी सांसदों के लिए संसद भवन परिसर में दफ्तर बनाया जाएगा, जिसे 2024 तक तैयार किया जाएगा। नई बिल्डिंग का डिजाइन HCP डिजाइन मैनेजमेंट ने किया है, जो अहमदाबाद से है।
  • इसका निर्माण टाटा प्रोजेक्ट्स द्वारा किया जाएगा। नई बिल्डिंग में ऑडियो विजुअल सिस्टम, डाटा नेटवर्क फैसिलिटी का ध्यान रखा जा रहा है।
  • नई बिल्डिंग में कुल 1224 सांसदों के बैठने की सुविधा होगी। इनमें 888 लोकसभा चैंबर में बैठ सकेंगे, जबकि राज्यसभा चैंबर में 384 सांसदों के बैठने की सुविधा होगी।

 

 

  • भविष्य में अगर सांसदों की संख्या बढ़ती है तो उसकी जरूरत पूरी हो सकेगी। संसद भवन में देश के हर कोने की तस्वीर दिखाने की कोशिश की जाएगी। नई बिल्डिंग में सेंट्रल हॉल नहीं होगा, लोकसभा चेंबर में ही दोनों सदनों के सांसद बैठ सकेंगे।
  • नया संसद भवन केंद्र सरकार की योजना सेंट्रल विस्टा के तहत बनाया जा रहा है। जिसमें संसद भवन के अलावा प्रधानमंत्री कार्यालय, राष्ट्रपति भवन और आसपास के इलाकों का नवीनीकरण किया जाएगा।
  • लोकसभा और राज्यसभा कक्षों के अलावा नए भवन में एक भव्य संविधान कक्ष होगा। जिसमें भारत की लोकतांत्रिक विरासत दर्शाने के लिए अन्य वस्तुओं के साथ-साथ संविधान की मूल प्रति, डिजिटल डिस्पले आदि होंगे।

 

 

  • संसद भवन की मौजूदा बिल्डिंग को एक म्यूजियम के तौर पर रखा जाएगा, उसमें काम भी चलता रहेगा। लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने जानकारी दी थी कि पुराने संसद भवन ने देश को बदलते देखा है, ऐसे में वो भविष्य में प्रेरणा देगा।
  • मौजूदा संसद भवन को अंग्रेजों ने बनवाया था, 12 फरवरी 1921 को इसकी नींव रखी गई और 1927 में जाकर ये तैयार हुआ। सर एडवर्ड लुटियंस, सर हॉर्बर्ट बेकर की अगुवाई में संसद भवन की बिल्डिंग तैयार हुई थी जिसे दुनिया के सबसे बेहतरीन इंफ्रास्ट्रक्चर के तौर पर देखा जाता है। तब इस भवन को बनाने में कुल 83 लाख रुपए का खर्च आया था।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखने के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी Youtube Channel 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है