Expand

मोदी का सिरमौर दौरा आगे सरका

मोदी का सिरमौर दौरा आगे सरका

- Advertisement -

अभी अभी। पीएम नरेंद्र मोदी का सिरमौर दौरा आगे सरक गया है। अभी अभी बीजेपी को इस बात की आधिकारिक तौर पर सूचना प्राप्त हुई है कि पीएम मोदी 18 अक्तूबर को सिरमौर के धौलाकुआं में नहीं आएंगे। इससे पहले तक इस बात की उम्मीद थी कि शायद मंडी के साथ-साथ सिरमौर में भी आईआईएम के शिलान्यास के साथ-साथ जनसभा को भी संबोधित करेंगे पर आईआईएम के नाम जमीन ट्रांसर्फर ना होने का ऐसा पेंच फंसा कि मोदी का सिरमौर दौरा आगे के लिए सरक गया। अब मोदी 18 को बस मंडी ही आएंगे। बीजेपी से जुडे सूत्र बता रहे हैं कि मोदी सिरमौर के दौरे पर अगले महीने भी आ सकते हैं।

नमो की हुंकार पर छिड़ेगा सियासी वार

  • मोदी की रैली का कांग्रेस नवंबर में देगी जवाब
  • राहुल गांधी की रैलियों का खाका लगभग तैयार

rahul-gandhiशिमला। पहाड़ की राजनीति में राजनीतिक सरगर्मियां आने वाले दिनों में तेज़ी से करवट बदलेंगी। 2017 में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सियासत के नए रंग दिखना लाजिमी भी है। प्रदेश में राजनीतिक लड़ाई वीरभद्र सिंह बनाम प्रेम कुमार धूमल होगी या नए चेहरों पर दांव लगेगा, ये अभी भविष्य के गर्भ में है। इसे लेकर कांग्रेस और बीजेपी ऐन वक्त पर ही पत्ते खोलेंगी, लेकिन फिलहाल हिमाचल में सियासी जंग नमो बनाम रागा होने जा रही है।

  • पीएम नरेंद्र मोदी 18 अक्टूबर को हिमाचल दौरे पर आ रहे हैं। उनकी मंडी में रैली प्रस्तावित है।
  • इस रैली से पहले मोदी जहां जनहित के प्रोजेक्टों को लोकार्पित करेंगे, वहीं सौगातें भी देंगे। इसे बीजेपी का प्रदेश में एक तरह से चुनावी शंखनाद ही माना जा रहा है। चूंकि पीएम की घोषणाओं को प्रदेश भाजपा निश्चित तौर पर भुनाने की कोशिश करेगी।
  • मोदी प्रदेश सरकार और कांग्रेस पर भी सीधा हमला बोल सकते हैं। जिसका जवाब तत्कालिक तौर पर तो आएगा ही, हिमाचल कांग्रेस ने मोदी की रैलियों का जवाब देने की भी तैयारी शुरू कर दी है।

ambikaमोदी की रैली के दिन ही 18 अक्टूबर को कांग्रेस का जरनल हाउस है। इसमें प्रदेश प्रभारी अंबिका सोनी भी आ रही हैं। आम सभा में सीएम और मंत्रियों सहित प्रदेश कार्यकारिणी भी मौजूद रहेगी। कांग्रेसी जहां चुनाव में उतरने का खाका खींचेंगे, वहीं मोदी की रैलियों का जवाब राहुल की रैलियों से देने पर भी आम सहमति बनाई जायेगी। राहुल वैसे तो नवंबर में हिमाचल में दो दिवसीय दौरे पर आने की हामी भर चुके हैं, अब इस पर सिर्फ अंतिम मुहर लगनी है। राहुल अगर आते हैं तो वे चुनावी परिपेक्ष्य में ही बीजेपी पर हमलावर होंगे। उनके चारों संसदीय क्षेत्रों में जनसभाएं और अधिवेशन का कार्यक्रम है। इससे आने वाले समय कांग्रेस और बीजेपी में सत्ता पाने के लिए आर-पार की जंग शुरू होगी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है