Covid-19 Update

1,98,877
मामले (हिमाचल)
1,91,041
मरीज ठीक हुए
3,382
मौत
29,548,012
मामले (भारत)
176,842,131
मामले (दुनिया)
×

जज के बंगले में घुसा बकरा, तो पुलिस ने लॉकअप में किया बंद

जज के बंगले में घुसा बकरा, तो पुलिस ने लॉकअप में किया बंद

- Advertisement -

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुरैना शहर में एक बेहद अनोखा मामला सामने आया है। जहां एक बकरे (goat) को अपनी पूरी रात पुलिस कस्टडी में गुजारनी पड़ी। बकरे का सिर्फ इतनी ही गलती थी कि वह एक वीआईपी जज (VIP judge) के बंगले में घुस गया था। सुबह जब बकरे के मालिक को यह बात पता चली तो वह कोतवाली (Kotwali) पहुंचा और अपने बकरे को छुड़ाकर ले गया।

यह भी पढ़ें :-बिग ब्रेकिंग: जैश-ए-मोहम्मद के मुखिया मसूद अजहर की मौत- रिपोर्ट


जानकारी के अनुसार मुरैना शहर की वाटर वर्क्स कॉलोनी (Water Works Colony) में रहने वाला दीपक वाल्मीकि नाम के एक शख्स का बकरा शनिवार की शाम को अपने खूंटे से छूटकर भाग गया। जिसके बाद वह कोतवाली के पास स्थित एक वीआईपी के बंगले में घुस गया और वहां पर उत्पात मचाने लगा। वीआईपी का नाम सत्र न्यायाधीश मोहम्मद अनीफ खान अपर ज‍िला बताया जा रहा है।

बकरे के बंगले में घुसते ही देख वीआईपी ने उसी समय शहर के पुलिस थाने में फोन करके पुलिस को उस बकरे की शिकायत दर्ज की। क्योंकि इस मामला की शिकायत वीआईपी ने की थी इसलिए उसी समय कोतवाली के पुलिसकर्मी बंगले में घुसे और बकरे को पकड़कर सिटी कोतवाली की जेल (Jail) के अंदर बंद कर दिया। बकरे को पूरी रात कोतवाली में गुजारनी पड़ी। सुबह जब बकरे का मालिक दीपक वाल्मीकि अपने बकरे को ढूंढते हुए कोतवाली पहुंचा तो उसे पूरी बात पता चली।

सिटी कोतवाली पुलिस ने बकरे को उसके मालिक के हवाले कर दिया। रोचक बात यह है कि जब पुलिस ने वीआईपी के बंगले से बकरा पकड़ा तो वह सोच में पड़ गए। पुलिसकर्मियों को डर था कि कहीं बकरे को रात में छोड़ दिया और इसे कोई और पकड़कर ले गया तो सुबह वीआईपी के सवालों का क्या जवाब देंगे। ऐसे में पुलिस ने रातभर बकरे को कस्टडी में रखा।
स‍िटी कोतवाली टीआई श‍िवस‍िंह यादव ने बताया क‍ि हमें किसी ने रात में सूचना दी कि एक बकरा घूम रहा है। हमने सोचा कि कोई रात में बकरे को पकड़कर ले जाएगा या काटकर खा जाए तो किसी गरीब का नुकसान होगा। इसलिए हमने उसे रातभर थाना परिसर में रखा। सुबह जब उसका मालिक आ गया तो उसके सुपुर्द कर दिया गया।

 

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है