Covid-19 Update

2,00,603
मामले (हिमाचल)
1,94,739
मरीज ठीक हुए
3,432
मौत
29,944,783
मामले (भारत)
179,349,385
मामले (दुनिया)
×

तेज रफ्तार बाइक चलाने से रोका तो सीआरपीएफ कमांडो और उसके परिवार के साथ पुलिस ने की मारपीट

तेज रफ्तार बाइक चलाने से रोका तो सीआरपीएफ कमांडो और उसके परिवार के साथ पुलिस ने की मारपीट

- Advertisement -

मेरठ। मेडिकल थाना पुलिस पर सीआरपीएफ के कमांडो और उसके परिजनों के साथ गुंडागर्दी के आरोप लगे हैं। आरोप है कि छुट्टी पर आए कमांडो (Commando) को पहले बेरहमी से पीटा और फिर घर में घुसकर तोड़फोड़ करते हुए कमांडो के परिजनों से मारपीट की। जानकारी के अनुसार मूल रूप से गांव किठौली जानी निवासी सतेंद्र सिंह पुत्र ब्रजपाल सिंह सीआरपीएफ में हेड कांस्टेबल है, वह बारामुला (Jammu-Kashmir) में बतौर कमांडो तैनात है। कमांडो का परिवार ‘के ब्लॉक’ शास्त्रीनगर में रह रहा है। सतेंद्र सिंह ने बताया कि वह छह अगस्त को छुट्टी पर आया था। इसी कॉलोनी में दरोगा सुनील कुमार और के ब्लॉक चौकी इंचार्ज जितेंद्र कुमार भी किराए पर रह रहे हैं। दरोगा सुनील कुमार कुछ दिनों पहले मेडिकल थाने से सस्पेंड हो गया था।

यह भी पढ़ें :-पाक के पीएम इमरान बोले, अब भारत से बात करने का फायदा नहीं, दी परमाणु युद्द की धमकी

बुधवार रात करीब नौ बजे सतेंद्र सिंह अपने परिवार और पड़ोसियों के साथ घर के बाहर बैठा था। इस बीच शास्त्रीनगर निवासी डिलीवरी ब्वॉय विवेक कुमार दोनों दरोगाओं का खाना लेकर बाइक से तेजी से ‘के ब्लॉक’ जा रहा था। सतेंद्र सिंह ने विवेक ने उसे रोका लेकिन उसने एक न सुनी। आरोप है कि विवेक ने इसकी शिकायत (Complaint) दरोगा जितेंद्र कुमार से की तो रात करीब 11:30 बजे मेडिकल थाने के दरोगाओं समेत 18-20 पुलिसकर्मी सतेंद्र कुमार के घर में घुस गए। पुलिसकर्मियों ने महिलाओं से मारपीट और अभद्रता की। सतेंद्र और उनके भाई को को भी पीटा। इस दौरान सतेंद्र घायल हो गया, जबकि पत्नी मंजू सांगवान और बेटे देवांश के पैर में फैक्चर आ गया। आरोप है कि पुलिस ने कमांडो सतेंद्र को हवालात में थर्ड डिग्री दी।


गुरुवार सुबह पड़ोस के लोगों ने पुलिस के खिलाफ हंगामा व नारेबाजी की। मामले की सूचना पर एसपी सिटी डॉ. एएन सिंह थाने पहुंचे। इस पर मेडिकल थाने के इंस्पेक्टर प्रशांत मिश्र ने एसपी सिटी से कहा कि कमांडो सतेंद्र ने बाइक सवार से गाली-गलौज की और मोबाइल लूट लिया। पुलिस जब वहां पहुंची तो महिलाओं ने पुलिस की वर्दी (Police uniform) फाड़ दी। पुलिस ने सतेंद्र की लाइसेंसी पिस्टल थाने में जमा करा दी। दो मुकदमे चौकी इंचार्ज जितेंद्र ने कमांडो सतेंद्र और परिवार के पांच लोगों पर दर्ज कराए, जबकि बाइक सवार विवेक ने तीसरा मुकदमा मोबाइल लूट का दर्ज कराया। इंस्पेक्टर का कहना है सतेंद्र को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया है। इस संबंध में एसएसपी अजय साहनी का कहना है कि बाइक सवार युवक ने पुलिस को मोबाइल लूट की सूचना दी थी। पुलिस जब मौके पर पहुंची तो वहां हेड कांस्टेबल सतेंद्र व परिजनों ने पुलिस को घेर लिया। हेड कांस्टेबल ने लाइसेंसी पिस्टल से पुलिस को धमकाया। पुलिस ने मोबाइल बरामद कर हेड कांस्टेबल को गिरफ्तार किया। एसपी सिटी पूरा प्रकरण देख रहे हैं।


हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है