Covid-19 Update

2,17,615
मामले (हिमाचल)
2,12,133
मरीज ठीक हुए
3,643
मौत
33,557,583
मामले (भारत)
230,543,349
मामले (दुनिया)

गोपालगंज हत्याकांड : Lockdown में निकले तेजस्वी-राबड़ी के काफिले को Police ने रोका, मौके पर भारी हंगामा

गोपालगंज हत्याकांड : Lockdown में निकले तेजस्वी-राबड़ी के काफिले को Police ने रोका, मौके पर भारी हंगामा

- Advertisement -

पटना। गोपालगंज ट्रिपल मर्डर केस को लेकर बिहार में राजनीति तेज हो गई है। गोपालगंज हत्याकांड (Gopalganj murder case) में जदयू विधायक की गिरफ्तारी ना होने पर राजद विधायकों के साथ तेजस्वी यादव गोपालगंज जाने के लिए शुक्रवार सुबह घर से निकले तो उनकी कार के सामने पुलिस ऑफिसर खड़े हो गए। राबड़ी आवास के बाहर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात है। दरअसल, तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने गोपालगंज हत्याकांड में जदयू विधायक की गिरफ्तारी ना होने पर गोपालगंज जाने की बात कही थी। तेजस्वी ने पुलिस को दो दिन का अल्टीमेटम दिया था। कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन के चलते प्रशासन ने तेजस्वी को गोपालगंज जाने की इजाजत नहीं दी थी। सुबह तेजस्वी यादव और राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह एक कार में बैठकर गोपालगंज जाने के लिए निकले। गेट से बाहर आते ही पुलिस अधिकारियों ने कार को घेर लिया। डीएसपी कार के सामने खड़े हो गए।

पुलिस और राजद विधायकों के बीच गहमागहमी

पुलिस और प्रशासन (Police and Administration) के अधिकारी तेजस्वी को यात्रा ना निकालने के लिए समझा रहे हैं। तेजस्वी गोपालगंज जाने की जिद पर अड़े हुए हैं। तेजस्वी ने कहा कि अपराधियों को छूट है और विधायकों को पीड़ित परिवार से मिलने से रोका जा रहा है। तेजस्वी के साथ राबड़ी देवी, तेज प्रताप यादव और पार्टी के विधायक भी गोपालगंज जाने के लिए तैयार हैं। राबड़ी आवास के बाहर सैकड़ों की संख्या में लोग जुटे हुए हैं। इस दौरान पुलिस और राजद विधायकों के बीच गहमागहमी भी हुई। विधायकों ने बैरिकेडिंग गिरा दिए। इसके बाद गाड़ियों का काफिला धीरे-धीरे आगे बढ़ा, लेकिन जल्द ही कारों को पुलिस ने दोबारा रोक दिया।

 

क्या है गोपालगंज हत्याकांड

बता दें कि 24 मई को गोपालगंज जिले के हथुआ थाना क्षेत्र के रूपनचक गांव में जेपी यादव, उनके पिता महेश चौधरी, मां संकेसिया देवी और भाई शांतनु यादव पर बाइक सवार चार अपराधियों ने फायरिंग की थी। महेश और उनकी पत्नी संकेसिया देवी की मौके पर ही मौत हो गई थी। जेपी यादव और शांतनु गंभीर रूप से घायल थे। गोरखपुर में इलाज के दौरान शांतनु की मौत हो गई। जेपी यादव का इलाज पटना में चल रहा है। इस मामले में जेपी यादव के बयान पर कुचायकोट के जदयू विधायक अमरेंद्र कुमार पांडेय, उनके भतीजे जिला परिषद अध्यक्ष मुकेश पांडेय, भाई सतीश पांडेय व एक अज्ञात के खिलाफ हथुआ थाने में केस दर्ज किया गया। सोमवार को पुलिस ने विधायक के नयागांव तुलसिया स्थित आवास पर छापेमारी कर मुकेश पांडेय और उसके पिता सतीश पांडेय को गिरफ्तार कर लिया है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है