Covid-19 Update

1,42,510
मामले (हिमाचल)
1,04,355
मरीज ठीक हुए
2039
मौत
23,340,938
मामले (भारत)
160,334,125
मामले (दुनिया)
×

यहां खड्ड की रेत-बजरी से लगाया जा रहा सड़क किनारे का डंगा, रुकवाया काम

यहां खड्ड की रेत-बजरी से लगाया जा रहा सड़क किनारे का डंगा, रुकवाया काम

- Advertisement -

नूरपर। प्रदेश में भारी बारिश होने पर सड़कों के किनारे लगाए डंगे धवस्त हो जाते हैं, जिसका एक कारण इन डंगों में लगाई गई घटिया निर्माण सामग्री भी होती है। ऐसा ही एक डंगा नूरपुर तहसील के जसूर-गंगथ सड़क मार्ग के भलेटा में सड़क किनारे बनाया जा रहा है। इसमें घटिया निर्माण सामग्री का इस्तेमाल हो रहा है।


यह भी पढ़ें: जयराम से मिले राठौरः राहत व पुनर्वास कार्यों में तेजी लाने का किया आग्रह

 

लोगों ने आरोप लगाया है कि इसके निर्माण में घटिया सामाग्री का प्रयोग हो रहा है। इस डंगे में खड्ड की बजरी डाली जा रही है। जिससे इसकी गुणवत्ता पर सवालिया निशान लग रहा है। लोगों ने विभाग से इस मामले की जांच करने और सरकार को चूना लगाने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है। हालांकि खबर मिलते ही पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों ने मौके पर पहुंच कर काम को रुकवा दिया है।

बता दें कि जसूर गंगथ सड़क मार्ग के उक्त भाग पर पिछले कई सालों से प्रोटेक्शन दीवार की कमी खल रही थी, जिसके चलते उक्त जगह पर अब प्रोटेक्शन दीवार लगाने का काम चला हुआ है। गत दिवस कुछ लोगों ने उक्त निर्माण कार्य पर नजर रखी, तो पता चला कि क्रशर की रेत बजरी की जगह खड्ड की बजरी डाली जा रही है। जबकि मानकों अनुसार निर्माण में क्रशर की बजरी रेत ही प्रयुक्त होना चाहिए था। निर्माण कार्य में बरती जा रही घटिया सामग्री की भनक लगते ही ग्रामीण भी वहां पहुंचे तो मौके पर क्रशर का रेत और बजरी नदारद थी और खड्ड के मटीरियल से ही कार्य हो रहा था।

मामले की गंभीरता को देखते हुए पीडब्ल्यूडी के अधिकारी भी मौके पर पहुंचे और आनन-फानन में काम को रुकवा दिया। वहीं इस मामले में पीडब्ल्यूडी नूरपुर के सहायक अभियंता जेएस राणा ने बताया कि निर्माण स्थल पर क्रशर की रेत-बजरी न होने के चलते कार्य बंद करवा दिया था और उक्त मटीरियल लाने पर ही फिर कार्य शुरू करवाया गया और निर्माण कार्य में किसी प्रकार की कोताही के संबंधित लोगों को कड़ी हिदायत दी गई है।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है