Covid-19 Update

2,00,603
मामले (हिमाचल)
1,94,739
मरीज ठीक हुए
3,432
मौत
29,944,783
मामले (भारत)
179,349,385
मामले (दुनिया)
×

Budget Session: पदनाम बदलने के बाद भरे जाएंगे सहायक पुस्तकालयाध्यक्षों के पद

Budget Session: पदनाम बदलने के बाद भरे जाएंगे सहायक पुस्तकालयाध्यक्षों के पद

- Advertisement -

शिमला। सहायक पुस्तकालयाध्यक्षों के पदनाम को जूनियर ऑफिस असिस्टेंट (लाइब्रेरी) का नाम दिए जाने बारे भर्ती एवं पदोन्नति नियमों में संशोधन की प्रक्रिया जारी है। भर्ती एवं पदोन्नति नियमों में संशोधन के उपरांत ही इन पदों को भरा जा सकता है। यह जानकारी विधानसभा में बजट सत्र (Budget Session) के दौरान शिक्षा मंत्री ने पांवटा साहिब के विधायक सुखराम और हमीरपुर के विधायक नरेंद्र ठाकुर के सवाल के जवाब में दी। शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने बताया कि गत 2 वर्ष में दिनांक 31 जनवरी 2020 तक शिक्षा विभाग में शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्ष के सीधी भर्ती द्वारा 6099 पद भरे गए हैं। अभी भी 10457 पद खाली हैं। इसमें जेबीटी के 1500, शास्त्री (ओटी) के 1025, भाषा अध्यापक (हिंदी) 305, शारिरिक शिक्षक (पीईटी) के 1775, कला अध्यापक ड्राइंग मास्टर के 1579 और प्रशिक्षित स्नातक अध्यापक (टीजीटी कला) के 547 पद रिक्त हैं।

यह भी पढ़ें: सीएम और मंत्रियों के TA, डीए और MR पर एक करोड़ से ज्यादा खर्च

प्रशिक्षित स्नातक अध्यापक टीजीटी नॉन मेडिकल के 331, टीडीटी मेडिकल के 184, डीपीई के 220, प्रवक्ता (स्कूल) के 2220 और सहायक पुस्तकालयाध्यक्ष तृतीय श्रेणी के 771 पद रिक्त चल रहे हैं। इसके अतिरिक्त जेबीटी के 1382, भाषा अध्यापक के 651, शास्त्री के 1342, कला अध्यापक के 87, शारीरिक शिक्षक के 67, टीजीटी (कला) के 185, टीजीटी (नॉन मेडिकल) के 60, टीजीटी (मेडिकल) के 70 एवं प्रवक्ता (स्कूल) के 483 पदों को भरने की प्रक्रिया विभिन्न माध्यमों से जारी है। जेबीटी के 617 पदों को भरने का मामला हाईकोर्ट में विचाराधीन होने के कारण हिप्र कर्मचारी चयन आयोग हमीरपुर द्वारा इनका परीक्षा परिणाम जारी नहीं किया जा सकता है।


 

शिक्षा की गुणवत्ता एवं सुधारीकरण हेतु शिक्षा विभाग द्वारा उठाए गए कदम

सरकार द्वारा 3740 स्कूलों में प्री-प्राइमरी कक्षाओं की शुरूआत की गई है। सभी स्कूलों (प्राथमिक, माध्यमिक, वरिष्ठ माध्यमिक) में स्पोर्ट्स ग्रांट का प्रावधान किया गया है। सभी जिलों को प्राथमिक, माध्यमिक एवं वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों के लिए लाइब्रेरी का प्रावधान किया गया है। स्मार्ट कक्षाओं में बच्चों को शिक्षा प्रदान करने हेतु प्रदेश के 2137 विद्यालयों में ICT प्रयोगशालाओं का प्रावधान किया गया है।

बच्चों की भाषायी कौशलों का विकास करने हेतु विद्यालय स्तर पर 36 भाषा प्रयोगशालाओं की शुरूआत की गई है। प्रदेश में 10 कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय तथा 3 कस्तूरबा गांधी बालिका छात्रावास चल रहे हैं। भारत सरकार द्वारा प्रारंभिक स्तर के लिए नियत सीखने के प्रतिफल (Learning Outcome) लागू किए जा रहे हैं। कक्षा 6 से 8 तक के बच्चों के मूल्यांकन को प्रभावी बनाने के लिए Question Bank तैयार किया गया है और अध्यापकों के साथ सांझा किया गया है। शिक्षण ज्ञान बढ़ाने के लिए Joy of learning को बढ़ावा दिया गया है। बच्चों को खेल-खेल में कैसे सिखाया जाए के लिए गणित एवं अंग्रेज़ी की संपर्क किट दी गई हैं।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है