Covid-19 Update

1,98,877
मामले (हिमाचल)
1,91,041
मरीज ठीक हुए
3,382
मौत
29,548,012
मामले (भारत)
176,842,131
मामले (दुनिया)
×

रात भर भटकती रही गर्भवती महिला Hospital में नहीं किया Admit,ऑटो में गई जान

रात भर भटकती रही गर्भवती महिला Hospital में नहीं किया Admit,ऑटो में गई जान

- Advertisement -

कोरोना के चलते लगाए गए लॉकडाउन( Lockdown) के दौरान बहुंत सारे घटनाक्रम लोगों से सामने आए हैं। जहां लोग ने एक दूसरे की मदद के लिए आगे आए तो कई हृदयविदारक किस्से भी सामने आए हैं। इस समय देश में महाराष्ट्र( Maharashtra) कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित है। यहां पर अस्पताल कोरोना के मरीजों से भरे हुए हैं, ऐसे में अन्य मरीजों को इधर उधर भटकना पड़ रहा है। मुंबई के मुंब्रा में 25-26 मई की रात एक 26 साल की प्रेग्नेंट महिला ने अस्पताल( Hospital) द्वारा भर्ती नहीं किए जाने की वजह से रास्ते में ही दम तोड़ दिया। महिला के परिजन उसे लेकर एक असप्ताल से दूसरे असप्ताल चक्कर लगाते रहे लेकिन किसी भी अस्पताल में उसे भर्ती नहीं किया। इस घटना को लेकर महिला के परिवारवालों ने तीनों अस्पताल के खिलाफ पुलिस( Police) में शिकायत दर्ज कराई है। फिलहाल मुंबई पुलिस ने शिकायत दर्ज कर आगे की छानबीन जारी कर दी है।

यह भी पढ़ें: ‘भारत में Coronavirus दुनिया के लिए संकट बनेगा’ का डर आपने गलत साबित किया: PM मोदी

बीजेपी नेता राम कदम ने उद्धव सरकार पर निशाना साधा

महिला का नाम अस्मा मेहंदी बताया जा रहा है। अस्मा को 25 मई की रात प्रसव पीड़ा हो रही थी। जिसके बाद उसे ऑटो में बैठाकर अस्पताल ले जाया गया। लेकिन अस्पताल ने मरीज को भर्ती करने से इनकार कर दिया। परिजन इसी तरह गर्भवती महिला को ऑटो में बैठाकर दो अन्य अस्पताल भी ले गए। चौथे अस्पताल के लिए जाते हुए ऑटो के अंदर ही उस महिला की मौत हो गई। परिवारवालों ने बताया कि अस्मा को जैसे ही प्रसव पीड़ा शुरू हुई उसे ऑटो से अस्पताल ले गए। इसके बाद वे अस्पताल के चक्कर काटते रहे लेकिन किसी ने उसे भर्ती नहीं किया। अंत में महिला की मौत हो गई। उधर इस मामले पर सियासत शुरु हो गई है। बीजेपी नेता राम कदम ने इस घटना को लेकर उद्धव सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा, ‘यह घटना काफी चैंकाने वाला और दुर्भाग्यपूर्ण है. एक प्रेग्नेंट महिला अस्पतालों के चक्कर काटती रही और आखिरकार ऑटो के अंदर ही उसकी मौत हो गई। किसी अस्पताल ने उस महिला को भर्ती नहीं किया। महाराष्ट्र सरकार से हम पहले भी इस संबंध में कई बार अपील कर चुके हैं लेकिन अब तक कुछ नहीं हुआ। मुंबई के लोगों को अस्पतालों में बेड तक नहीं मिल रहा है और लोग सड़क पर मर रहे हैं. यह पूरी तरह से प्रदेश सरकार की असफलता है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है