- Advertisement -

धूमल@ उपचुनाव से पहले हार मान चुकी Congress , डर से बदला Candidate

0

- Advertisement -

prem kumar dhumal/  शिमला। नेता प्रतिपक्ष एवं पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल ने कहा कि भोरंज उपचुनाव में कांग्रेस पार्टी मतदान से पूर्व ही हार मान चुकी है। हार का डर ही वजह है कि कांग्रेस अपने चुनाव प्रत्याशी बदल रही है और हार का ठीकरा अपने सर न फटे इसके लिए सीएम और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रत्याशी को बदले जाने की जिम्मेवारी भी लेने के लिए तैयार नहीं है।

तो नहीं मिलते राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कार

नेता प्रतिपक्ष ने सीएम द्वारा पूर्व बीजेपी सरकार पर माफियाराज संबंधी टिप्पणी पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि अगर पूर्व बीजेपी सरकार में माफियाराज होता तो प्रदेश को सुशासन और उपलब्धियों के लिए 85 से ज्यादा पुरस्कार राष्ट्रीय स्तर पर नहीं मिलते। यह वर्तमान प्रदेश सरकार है जिसके शासनकाल में प्रदेशभर में तरह-तरह के माफिया सक्रिय हैं। आज प्रदेशभर में खनन माफिया, वन माफिया, भू-माफिया, ड्रग्स माफिया, शराब माफिया व ट्रांसफर माफिया सक्रिय है। हालत यहां तक खराब हो चुकी है कि सीएम और वन मंत्री के क्षेत्रों में हजारों देवदार के पेड़ कट जाते हैं, परन्तु दोषियों के खिलाफ कार्रवाई होने के वजाए उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाती है जो इन घटनाओं की शिकायत पुलिस के समक्ष करते हैं।

प्रदेश में कानून व्यवस्था बदहाल

प्रदेश भर में कानून व्यवस्था की हालत इस कदर बिगड़ चुकी है कि बंजार में आईएसआईएस का संदिग्ध आतंकी मिलता है और कालाअंब में बारूद, नाहन में हथियार और स्पाटू के कैंट एरिया में आईएसआईएस के समर्थक देश विरोधी नारे लिखते हैं, परन्तु पुलिस प्रशासन हाथ पर हाथ धरे बैठा रहता है। इस सरकार के कारनामों को देखकर उल्टा चोर कोतवाल को डांटे की कहावत चरितार्थ होती है। धूमल ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस सरकार के चार सालों की कारगुजारी का परिणाम भोरंज चुनावों के पश्चात मिल जाएगा। कांग्रेस भी इस बात को भली भांति समझ रही है कि जनता प्रदेश सरकार के कृत्यों से हताश व परेशान है और इस चुनाव में उन्हें करारा जवाब मिलने वाला है।

ऐसे में पहले से ही कांग्रेस पार्टी के नेता तरह-तरह के बहाने बना रही है। धूमल ने कहा कि उनका मानना है कि इस बात से फर्क नहीं पड़ता कि चुनाव ईवीएम से हों या बैलेट पेपर से, हार-जीत का निर्णय जनता ही करती है। पर कांग्रेस नेता यह बताएं कि पंजाब में जो उन्हें जीत मिली क्या वह ईवीएम में हेरा-फेरी का परिणाम है ?

- Advertisement -

Leave A Reply