Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,526,589
मामले (भारत)
196,267,832
मामले (दुनिया)
×

First Hand: जयराम के मंच पर Anil Sharma को बना डाला फुटबाल, महेंद्र-राम स्वरूप बरस पड़े

First Hand: जयराम के मंच पर Anil Sharma को बना डाला फुटबाल, महेंद्र-राम स्वरूप बरस पड़े

- Advertisement -

मंडी। लोकसभा चुनावों (Lok Sabha Election)के बाद पहली बार सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur)की जनसभा में पहुंचे सदर के विधायक अनिल शर्मा (BJP MLA Anil Sharma)को भरी सभा में जमकर खरी-खोटी सुननी पड़ी। अनिल शर्मा ने मंच से अपना संबोधन देकर कुछ बात कही और बात इतनी दूर तक चली गई कि बीजेपी नेताओं ने पिछले 60 वर्षों का हिसाब.किताब मंच पर मौजूद अनिल शर्मा के सामने रख दिया। सारा मामला कुछ इस तरह से पेश आया। सीएम जयराम ठाकुर मंडी में करोड़ों की योजनाओं के उद्घाटन और शिलान्यास करने आए हुए थे। इसके बाद सेरी मंच पर जनसभा रखी गई थी जिसमें सदर के विधायक अनिल शर्मा को भी आमंत्रित किया गया था। अनिल शर्मा को बाकायदा मंच से बोलने का मौका भी दिया गया। अपने संबोधन में अनिल शर्मा ने कहा कि आजकल कोई अधिकारी या कर्मचारी उनके पास नहीं आता और वह अपने निजी कार्यों में व्यस्त रहते हैं। उन्होंने सीएम से दो वर्षों का समय मांगा और शहर में चल रहे विकास कार्यों में अपना सहयोग देने की बात कही।

यह भी पढ़ें: जयराम का ऑफरः जीएसटी क्लेक्शन में बेहतर परफॉरमेंस दो और ईनाम पाओ


इसके बाद बारी आई सांसद राम स्वरूप शर्मा (MP Ram Swaroop Sharma) के संबोधन की। उन्होंने अनिल शर्मा को खरी.खोटी सुनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। राम स्वरूप शर्मा ने कहा कि जो एकता से बाहर चले जाते हैं वह गोलियां देने लगते हैं कि उनके पास कोई अधिकारी नहीं आता। जबकि आज मंडल के अध्यक्ष से लेकर बूथ अध्यक्ष तक के पास अधिकारी और कर्मचारी जा रहे हैं क्योंकि यह जयराम ठाकुर की सरकार है। इसके बाद जब आईपीएच मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर (IPH Minister Mahendra Singh Thakur) का संबोधन शुरू हुआ तो उन्होंने 60 वर्षों का हिसाब-किताब निकालकर सामने रख दिया।

महेंद्र सिंह ठाकुर ने मंच पर बैठे अनिल शर्मा और उनके परिवार को खरी-खोटी सुनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। उन्होंने कहा कि दो वर्ष मांगने वाले पहले 60 वर्षों का हिसाब दें कि उन्होंने मंडी (Mandi) के लिए क्या किया। जब सीएम बनने की बारी आ रही थी तो यह परिवार हमीरपुर (Hamirpur) की तरफ देख रहा था। उन्होंने दादा-पोते को मौसम वैज्ञानिक करार देते हुए कहा कि यह पहले ही भांप लेते हैं कि हवा किस तरफ चल रही है और उस तरफ अपना रूख कर लेते हैं। उन्होंने कहा कि सीएम की कुर्सी महालक्ष्मी की कुर्सी होती है लेकिन मंडी के दो लोग इस कुर्सी की आरती उतारने के बजाए लाल मिर्ची का हवन कर रहे हैं। महेंद्र सिंह ठाकुर ने कहा कि ऐसे लोगों को शर्म आनी चाहिए। सभा के अंत में जब सीएम जयराम ठाकुर के संबोधन की बारी आई तो उन्होंने ने भी पूरे विवाद पर चुटकी ले ली।

जयराम ठाकुर ने कहा कि सदर विधायक ने जो बात कही वो दूर तक चली गई और पुरानी यादें ताजा हो गई। उन्होंने सरकार की योजना का जिक्र करते हुए तंज कसा कि आज पुरानी राहों से फिर यादें ताजा हो गई। वहीं उन्होंने यह सलाह भी दी कि राजनीति में इस प्रकार की बातों का बुरा नहीं मानना चाहिए। याद रहे कि लोकसभा चुनावों में सदर विधायक अनिल शर्मा के बेटे आश्रय शर्मा ने कांग्रेस के टिकट पर लोकसभा का चुनाव लड़ा था। पंडित सुखराम और आश्रय शर्मा कांग्रेस (Congress) में शामिल हो गए थे जबकि चुनावों के बीच में अनिल शर्मा ने मंत्रिपद से इस्तीफा दे दिया था। हालांकि अभी तक अनिल शर्मा बीजेपी के ही विधायक हैं और चुनावों के बाद आज वह पहली बार सीएम की जनसभा में गए थेए जहां उन्हें काफी जलालत झेलनी पड़ी।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है