Covid-19 Update

2,18,523
मामले (हिमाचल)
2,13,124
मरीज ठीक हुए
3,653
मौत
33,694,940
मामले (भारत)
232,779,878
मामले (दुनिया)

Live : #PranabMukherjee को अंतिम विदाई, राष्ट्रपति-PM ने दी श्रद्धांजलि

Live : #PranabMukherjee को अंतिम विदाई, राष्ट्रपति-PM ने दी श्रद्धांजलि

- Advertisement -

नई दिल्ली। भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी (#PranabMukherjee) का निधन हो गया है और उनको आखिरी विदाई दी जा रही है। दोपहर 2.30 बजे दिल्ली के लोधी श्मशान घाट पर उनका अंतिम संस्कार होगा। दोपहर 12 बजे तक अंतिम दर्शन के लिए उनका पार्थिव शरीर रखा गया है। सुबह पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovind), पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने उन्हें श्रद्धांजलि दी।

ये भी पढे़ं – Former President #PranabMukherjee का निधन, बेटे अभिजीत मुखर्जी ने ट्वीट कर दी जानकारी

 

 

पूर्व पीएम डॉक्टर मनमोहन सिंह, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को उनके आवास पर श्रद्धांजलि दी। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा, ‘प्रणब मुखर्जी ने एक शून्य छोड़कर चले गए हैं। वे उदार और दयालु थे, जो मुझे यह भुला देते थे कि मैं भारत के राष्ट्रपति से बात कर रहा हूं। राजनीतिक मतभेदों के बावजूद, सभी को अपना बनाना उनकी प्रकृति में था। उन्हें हमेशा याद किया जाएगा।’

 

 

तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा (Dalai Lama) ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि कई दशकों तक उन्होंने समर्पित होकर देश की सेवा की। तिब्बती धर्मगुरु ने कहा कि प्रणब मुखर्जी ने 84 वर्षों तक एक सार्थक जीवन व्यतीत किया।

बता दें कि सोमवार शाम प्रणब मुखर्जी का निधन हो गया। वे पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे थे। उनके बेटे उनके बेटे अभिजीत मुखर्जी ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। अभिजीत ने ट्वीट किया, ‘भारी मन के साथ आपको यह सूचित करना है कि मेरे पिता श्री प्रणव मुखर्जी का आरआर अस्पताल के डॉक्टरों के सर्वोत्तम प्रयासों और भारत भर के लोगों की प्रार्थनाओं, दुआओं के बावजूद निधन हो गया है! मैं आप सभी को धन्यवाद देता हूं।’ 84 वर्षीय मुखर्जी लगातार गहरे कोमा में थे और उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट (Ventilator support) पर रखा गया था। उन्हें 10 अगस्त को दिल्ली कैंट स्थित सैन्य अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इससे पहले उनकी कोरोना रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई थी। मुखर्जी के मस्तिष्क में खून के थक्के जमने के बाद उनका ऑपरेशन किया गया था।

 

 

मुखर्जी वर्ष 2012 से 2017 तक देश के 13वें राष्ट्रपति रहे। उनका राजनीतिक जीवन 40 वर्ष से भी ज्यादा लंबा रहा है। कांग्रेस पार्टी में रहते हुए उन्होंने विदेश से लेकर रक्षा, वित्त और वाणिज्य मंत्री तक की भूमिका निभाई। मुखर्जी वर्ष 2012 से 2017 तक देश के 13वें राष्ट्रपति रहे। उनका राजनीतिक जीवन 40 वर्ष से भी ज्यादा लंबा रहा है। कांग्रेस पार्टी में रहते हुए उन्होंने विदेश से लेकर रक्षा, वित्त और वाणिज्य मंत्री तक की भूमिका निभाई।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है