रियो खेलने गए खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाना देशवासियों का दायित्व

रियो खेलने गए खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाना देशवासियों का दायित्व

- Advertisement -

मोदी बोले, ऐप पर भेजो शुभकामनाएं, प्लेयर्स तक पहुंचाउंगा

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को एक बार फिर देशवासियों से रू-ब-रू हुए। प्रधानमंत्री ने मन की बात कार्यक्रम की शुरुआत रियो ओलंपिक से की। उन्होंने ओलंपिक में हिस्सा लेने गए खिलाड़ियों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि मैं मानता हूं कि आने वाले दिनों में पूरे देश में खेल का रंग हर नौजवान को उत्साह-उमंग के रंग से रंग देगा। कुछ ही दिनों में विश्व का सबसे बड़ा खेलों का महाकुंभ होने जा रहा है। रियो हमारे कानों में बार-बार गूंजने वाला है। हमारी आशा-अपेक्षाएं तो बहुत होती हैं, लेकिन रियो में जो खेलने के लिए गए हैं, उनका हौसला बुलंद करने का काम भी देशवासियों का है। हम भी आने वाले दिनों में, जहां भी हों, हमारे खिलाड़ियों को प्रोत्साहन के लिए कुछ-न-कुछ करें। यहां तक जो खिलाड़ी पहुंचता है, वो बड़ी कड़ी मेहनत के बाद पहुंचता है। एक प्रकार की कठोर तपस्या करता है। पीएम ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि हम सभी देशवासी रियो ओलंपिक के लिए गए हुए हमारे सभी खिलाड़ियों को शुभकामनाएं दें। आप मुझे ‘नरेंद्र मोदी एप’ पर खिलाड़ियों के नाम शुभकामनाएं भेजिए, मैं आपकी शुभकामनाएं उन तक पहुंचाऊंगा। पीएम ने मन की बात में बारिश का जिक्र भी किया। उन्होंने कहा कि कुछ समय पहले हम लोग अकाल की चिंता कर रहे थे और इन दिनों वर्षा का आनंद भी आ रहा है, तो बाढ़ की ख़बरें भी आ रही। राज्य सरकार और केंद्र सरकार मिलकर बाढ़-पीड़ितों की सहायता के लिए कंधे से कंधा मिला कर के भरपूर प्रयास कर रही हैं। वहीं पीएम से बारिश में बीमारियों से बचाव करने के लिए भी कहा। उन्होंने कहा कि डेंगू से बचा जा सकता है। थोड़ा स्वच्छता पर ध्यान रहे, थोड़े सतर्क रहें और सुरक्षित रहने का प्रयास करें।
IndiaTv4b0a4f_Mann-ki-Baat-गर्भवती महिलाओं की होगी नि:शुल्क जांच
महिलाओं का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि देश में हर वर्ष 3 करोड़ महिलाएं गर्भावस्था धारण करती हैं, प्रसूति के समय कभी मां मरती है, कभी बालक मरता है, कभी दोनों मरते हैं। एक दशक में माता की असमय मृत्यु की दर में कमी तो आई है, लेकिन फिर भी आज बहुत बड़ी मात्रा में गर्भवती माताओं का जीवन नहीं बचा पाते हैं। सरकार ‘प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व’ अभियान शुरू किया है। इस अभियान के तहत हर महीने की 9 तारीख को सभी गर्भवती महिलाओं की सरकारी स्वास्थ्य केन्द्रों में नि:शुल्क जांच की जाएगी। इसके अलावा प्रधानमंत्री ने लोगों को जागरुक करते हुए कहा कि एंटीबायोटिक की जो दवाएं बिकती हैं, उसके पत्ते के ऊपर लाल लकीर से सचेत किया जाता है, आप उस पर जरूर ध्यान दें। मैं आपसे आग्रह करता हूं कि डॉक्टर ने जितने दिन आपसे दवा लेने के लिए कहा है, उसका कोर्स पूरा कीजिए, आधा-अधूरा छोड़ दिया तो यह जीवाणु के फायदे में जाएगा।

Highly educated experts have devoted their diligent duties in making over at this service the best preparation material for the amazon aws-sysops aws certified sysops administrator/ candidates therefore we are 100% confident about the relevancy of product.

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है