Expand

Dr. Bharti Suicide : अब एसपी कांगड़ा पर आरोप

Dr. Bharti Suicide : अब एसपी कांगड़ा पर आरोप

- Advertisement -

धर्मशाला। पंचरुखी चिकित्सालय में 16 अक्टूबर को डॉ. विमल भारती द्वारा की गई आत्महत्या के मामले में, पालमपुर उपमंडल और पंचरुखी पुलिस पर कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगा था। अब यही आरोप जिला पुलिस प्रमुख पर भी लगाए गए हैं। यह आरोप डॉ. विमल भारती के पिता किशोर चंद और अन्य परिजनों सहित ग्रामीणों ने लगाते हुए, इस बारे में शहर में एक जुलुस निकाला और न्याय की गुहार लगाई। इस दौरान दर्जनों ग्रामीण भी शामिल हुए और शांतिपूर्वक तरीके से पुलिस की कार्यप्रणाली के खिलाफ अपना रोष जाहिर किया।

  • police-2  डॉ विमल भारती के खुदखुशी मामले में परिजनों ने धर्मशाला में निकाला जुलुस

किशोर चंद का आरोप है कि उनकी बहू रूचि और उसके माता पिता ने डॉ. विमल भारती को प्रताड़ित करते हुए आत्महत्या के लिए उकसाया है।

किशोर चंद का कहना है कि डॉ. भारती का सुसाइड नोट घटना के 5 दिन बाद उन्हें डाक द्वारा मिला, जिसे उन्होंने पंचरुखी पुलिस को सौंप दिया। इस सुसाइड नोट में डॉ. भारती ने अपनी मौत के लिए अपनी पत्नी रूचि और उसके मायके वालों को जिम्मेदार ठहराया था। किशोर चंद का आरोप है कि पुलिस ने घटना के इतने दिन के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की है और उनके बेटे को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं।

protest-4किशोर चंद ने इस मामले में राजनितिक दवाब के चलते पुलिस पर कार्रवाई को लटकाने का आरोप लगाया है।

उनका आरोप है कि प्रदेश सरकार में ज्वाली विधानसभा क्षेत्र से ताल्लुक रखने वाले नेताओं की इस मामले में दखलंदाजी के चलते पुलिस इस मामले में ढील बरत रही है और केस को कमजोर कर रही है। उन्होंने कहा कि एसपी कांगड़ा ने भी 25 अक्टूबर को उन्हें आश्वासन दिया था कि जल्द साक्ष्य जुटाकर इस मामले के आरोपियों को गिरफ्तार किया जायेगा लेकिन इस आश्वासन के 20 दिन बाद भी कोई कार्रवाई नहीं होना अपने आप में संदेह पैदा करता है। कई मामलों में पुलिस परिजनों की शिकायत पर भी आत्महत्या के लिए उकसाने वालों को गिरफ्तार कर लेती है और इस मामले में सुसाइड नोट के आधार पर भी कार्रवाई नहीं की जा रही है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है