Covid-19 Update

1,54,664
मामले (हिमाचल)
1,15,610
मरीज ठीक हुए
2219
मौत
24,372,907
मामले (भारत)
162,538,008
मामले (दुनिया)
×

बोर्ड-निगमों में मर्जी की भर्तियां होंगी बंद, लोक सेवा आयोग करेगा

बोर्ड-निगमों में मर्जी की भर्तियां होंगी बंद, लोक सेवा आयोग करेगा

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल में सहकारी बैंक, बोर्ड और निगम अब अपनी मर्जी से भर्ती नहीं कर पाएंगे। प्रदेश के सभी निगमों, बोर्डों और सहकारी बैंकों में अब भर्तियां राज्य लोक सेवा आयोग के माध्यम से होंगी। सीएम जयराम ठाकुर ने विधानसभा में हिमाचल प्रदेश लोक सेवा आयोग अतिरिक्त कृत्य विधेयक 2018 सदन में पेश किया, जिसे सदन ने पारित कर दिया। पारित विधेयक के राज्यपाल की मंजूरी के बाद कानून बनते ही प्रदेश में मौजूद निगमों, बोर्डों और सहकारी बैंकों की भर्तियां राज्य लोकसेवा आयोग के दायरे में आ जाएंगी। अब तक निगम, बोर्ड और बैंक अपने स्तर पर ही भर्तियां कर रहे हैं।


भर्ती प्रक्रिया को पारदर्शी बनाने के लिए सरकार विधेयक लाकर नई व्यवस्था करने जा रही है। विधेयक के तहत भर्तियों को टाइम बाउंड करने की योजना भी है। विधानसभा में पेश किए गए हिमाचल प्रदेश लोक सेवा आयोग अतिरिक्त कृत्य विधेयक 2018 में स्पष्ट किया गया है कि इस बदलाव से राजकोष में कोई अतिरिक्त व्यय नहीं होगा। इस बिल पर माकपा विधायक राकेश सिंघा ने विरोध किया। उन्होंने कहा कि लोक सेवा आयोग के पास काम कम हैं और इसे देखते हुए उसे अतिरिक्त शक्तियां दी जा रही हैं। कांग्रेस विधायक आशा कुमारी ने भर्तियों को लेकर नियम में संशोधन का स्वागत किया, लेकिन आयोग को डिस्पलीनरी एक्शन की जो शक्तियां दी जानी हैं, वह सही नहीं हैं।


36 संस्थान आएंगे आयोग के दायरे में

हिमाचल प्रदेश लोक सेवा आयोग अतिरिक्त कृत्य विधेयक 2018 में प्रदेश के परिवहन निगम, बिजली बोर्ड, स्कूल शिक्षा बोर्ड, तकनीकी शिक्षा बोर्ड, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, नगर निगम, कौशल विकास निगम, पर्यटन निगम, वन निगम सभी सहकारी बैंक, हिमुडा, बाल कल्याण परिषद सहित 36 संस्थान इस कानून के दायरे में आएंगे।

सीएम बोले आयोग में पारदर्शिता है

सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि लोकसेवा आयोग में पारदर्शिता है। इसे देखते हुए सरकार ने सभी बोर्ड, निगम और सहकारी बैंकों में होने वाली नियुक्तियों के लिए भर्ती आयोग के माध्यम से की जाएगी। पूर्व में एचआरटीसी, सहकारी बैंक, केसीसी बैंक सहित अन्य कुछ भर्तियों को लेकर दूसरी एजेंसी के माध्यम से परीक्षाएं हुई। बाद में जब आरोप लगते हैं तो जवाबदेही किसकी होगी। इसे देखते हुए सरकार ने लोक सेवा आयोग को ऐसी शक्तियां दी हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है