टूटने के कगार पर Sidhu का “Aawaz-e-Punjab” फ्रंट

टूटने के कगार पर Sidhu का “Aawaz-e-Punjab”  फ्रंट

- Advertisement -

चंडीगढ़। नवजोत सिंह सिद्धू पर इनदिनों भारी दबाव है कि वह अपने राजनीतिक भविष्य को लेकर जल्द से जल्द कोई फैसला ले लें, नहीं तो पंजाब की राजनीति में वह अलग-थलग पड़ जाएंगे। हालात यह हैं कि एक वक्त में किंग मेकर बन कर उभरे सिद्धू का आवाज-ए-पंजाब फ्रंट पूरी तरह से टूटने के मुकाम पर जा पहुंचा है और पंजाब के लिए अपना सब कुछ कुर्बान करने की बात करने वाले सिद्धू पिछले 4 महीनों से पंजाब में कदम तक नहीं रख पाए हैं।


आवाज-ए-पंजाब फ्रंट टूटने के मुकाम पर, अलग-थलग पड़े सिद्धू

  • आवाज-ए-पंजाब फ्रंट पर अकेले पड़े सिद्धू
  • बैंस बंधुओं ने थामा AAP का दामन
  • परगट सिंह का Congress में जाना तय

न तो सिद्धू को अब कोई राजनीतिक पार्टी पूछ रही है और ना ही आवाज ए पंजाब फ्रंट खड़ा करने के दौरान उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े उनके सहयोगी। sidhu2
उनके दो खास सहयोगी बैंस बंधु और परगट सिंह, सिद्धू का दामन छोड़ चुके हैं। लुधियाना से विधायक बैंस बंधु तो सिद्धू से बिना मशवरा किये ही आम आदमी पार्टी का दामन भी थाम चुके हैं। परगट सिंह भी इशारों में कह ही चुके हैं कि वह भी ज्यादा इंतजार नहीं कर सकते और कांग्रेस में उनका जाना तय हो चुका है। सिद्धू के पास अब आखिरी मौका यही बचा है कि वह या तो बिना शर्त बैंस ब्रदर्स के साथ आम आदमी पार्टी का साथ दें या फिर पिछले लंबे वक्त से बिना शर्त कांग्रेस पार्टी में जाने का निमंत्रण स्वीकार करें।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है