Covid-19 Update

1,99,197
मामले (हिमाचल)
1,91,732
मरीज ठीक हुए
3,394
मौत
29,633,105
मामले (भारत)
177,414,471
मामले (दुनिया)
×

हिमाचल की दवा फैक्ट्री में मिली करोड़ों की नशीली दवाएं , मालिक भी गिरफ्तार

पंजाब पुलिस व हिमाचल पुलिस ने मिलकर 30 लाख के कैप्सूल- टैबलेट किए बरामद

हिमाचल की दवा फैक्ट्री में मिली करोड़ों की नशीली दवाएं , मालिक भी गिरफ्तार

- Advertisement -

नाहन। पंजाब पुलिस ने सिरमौर जिला के पांवटा साहिब में अवैध तौर पर नशे की दवाइयां बनाने वाली यूनिक फॉर्मूलेशन फैक्ट्री के मालिक को गिरफ्तार (Arrest) किया है। पुलिस ने दवा कंपनी (Pharmaceutical Company) में निर्मित किए गए करीब 30 लाख कैप्सूल और टैबलेटस (ट्रामाडोल और एप्राजोलम) जिनकी कीमत 15 करोड़ रुपये आंकी गई है, को भी अपने कब्जे में ले लिया है। दवा उद्योग के मालिक मोनिश मोहन पुत्र मदन मोहन निवासी देवीनगर, पांवटा साहिब, जिला सिरमौर को पंजाब पुलिस (Punjab Police) अपने साथ ले गई है। जिला सिरमौर पुलिस और ड्रग विभाग (Drug department) ने जांच में पंजाब पुलिस का सहयोग किया। यह जानकारी एसपी सिरमौर डॉ. केसी शर्मा ने शुक्रवार को नाहन में आयोजित पत्रकार वार्ता में दी। एसपी ने बताया कि बीते 18 मई को पंजाब पुलिस द्वारा पुलिस थाना मत्तेवाल, जिला अमृतसर के क्षेत्राधिकार के तहत 50 हजार नशीले कैप्सूल (Narcotic Capsules) (ट्रामाडोल) के साथ आरोपियों को गिरफ्तार किया था। इस संदर्भ में पुलिस थाना मत्तेवाल, जिला अमृतसर पंजाब में मामला दर्ज किया गया है।

यह भी पढ़ें: Himachal की दवा कंपनी में पंजाब पुलिस की दबिश, खंगाले दस्तावेज

मामले की जांच के दौरान पंजाब पुलिस के सामने तथ्य सामने आए कि दर्द के लिए बनी दवा जिसमें प्रतिबन्धित पदार्थ ट्राडामोल पाया जाता है, का प्रयोग नशा के तौर पर भी किया जाता हैं, इसका निर्माण हिमाचल के जिला सिरमौर (Sirmaur) के पांवटा साहिब क्षेत्र में स्थित दवा कंपनी यूनिक फॉर्मूलेशन (Pharmaceutical Company Unique Formulation) में किया गया है। उन्होंने बताया कि मामले में कड़ी को जोड़ते हुए अन्वेषण के दौरान पंजाब पुलिस ने बीते गुरुवार को पांवटा साहिब के देवीनगर में स्थित यूनिक फॉर्मूलेशन दवा कंपनी में दबिश के जिला सिरमौर पुलिस को संपर्क किया और मामले में पुलिस सहायता के लिए अनुरोध किया। मामले की गंभीरता को देखते हुए और नशा माफिया (Drug mafia) पर अंकुश लगाने के उदेश्य से तुरंत पंजाब पुलिस को स्थानीय पुलिस की सहायता उपलब्ध करवाई गई। उक्त मामले में जिला सिरमौर के सहायक दवा नियंत्रक सन्नी कौशल और इंसपेक्टर भूमिका भी शामिल रहे। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पंजाब पुलिस ने जिला सिरमौर पुलिस की सहायता से उक्त दवा कंपनी में दबिश दी और दवा कंपनी का पूरा रिकॉर्ड़ खंगाला। छानबीन के दौरान दवा कंपनी में कुछ अनियमितताएं पाई गई जिस पर पंजाब पुलिस ने दवा कंपनी में निर्मित किए गए करीब 30 लाख कैप्सूल और टैबलेटस (ट्रामाडोल और एप्राजोलम) को कब्जा में लिया है। उन्होंने बताया कि भविष्य में भी नशा माफियों के विरूद्ध इस प्रकार की कार्रवाई जारी रहेगी।


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Subscribe करें हिमाचल अभी अभी का Telegram Channel

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है