Covid-19 Update

1,98,313
मामले (हिमाचल)
1,89,522
मरीज ठीक हुए
3,368
मौत
29,439,989
मामले (भारत)
176,417,357
मामले (दुनिया)
×

सड़क किनारे टूटेंगे दो दर्जन अवैध ढारे, चलेगा केस, पीडब्ल्यूडी ने जारी किए नोटिस

सड़क किनारे टूटेंगे दो दर्जन अवैध ढारे, चलेगा केस, पीडब्ल्यूडी ने जारी किए नोटिस

- Advertisement -

करसोग। तत्तापानी में सड़क किनारे बने अवैध ढारों पर कभी भी प्रशासन का हथौड़ा चल सकता है। पीडब्ल्यूडी ने हाल ही में अवैध ढारे बनाने वाले चार और लोगों को नोटिस जारी कर दिए हैं। इससे पहले अवैध निर्माण करने पर करीब 20 लोगों को भी विभाग ने नोटिस दिए गए हैं। ऐसे में अब दो दर्जन से अधिक लोगों को अपने स्तर पर अवैध निर्माण तोड़ने को कहा गया है।

विभाग के अधिकारियों के मुताबिक अगर नोटिस को गंभीरता से नहीं लिया जाता है तो ऐसे लोगों के खिलाफ कोर्ट में मुकदमा चलाया जाएगा।बता दें कि शिमला से वाया तत्तापानी से सुंदरनगर तक नेशनल हाइवे घोषित होने के बाद से यहां लगातार सड़क के किनारे अवैध निर्माण हो रहा है। जिस कारण अब सड़क तंग होने से आम लोगों को सबसे अधिक दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।


पर्यटन को बढ़ाने के लिए दिए हैं करोड़ोंए

सतलुज नदी पर 800 मेगावाट की कौलडैम विद्युत योजना बनने के बाद तत्तापानी में गर्म पानी के प्राकृतिक स्त्रोत झील में लुप्त हो गए हैं।इसलिए सरकार से तत्तापानी के शानदार अतीत को फिर से स्थापित करने के लिए करीब चार करोड़ की विस्तृत योजना तैयार की है। ताकि तत्तापानी में कम रहे पर्यटन को बढ़ाया जा सके। इसके लिए सरकार सतलुज नदी में बनी झील के किनारे रेलिंग लगाकर सड़क को चौड़ा किया जा रहा है । लेकिन सड़क की चौड़ाई के साथ ही लोगों ने अवैध निर्माण शुरू कर दिया है। ऐसे में सड़क तो तंग हो रही है इसके साथ तत्तापानी का सौंदर्य भी खराब हो रहा है।

पीडब्ल्यूडी सब डिवीजन चुराग के एसडीओ बलवीर ठाकुर का कहना है कि अवैध ढारे बनाने वाले लोगों को सात दिनों में खुद निर्माण गिराने के आदेश जारी किए गए हैं। अगर तय अवधि में निर्माण को नहीं गिराया जाता है तो ऐसे लोगों के खिलाफ कोर्ट में केस चलाया जाएगा

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है