Covid-19 Update

1,40,759
मामले (हिमाचल)
1,02,499
मरीज ठीक हुए
1989
मौत
23,340,938
मामले (भारत)
160,334,125
मामले (दुनिया)
×

हेलिकॉप्टर क्यों उड़ाया

- Advertisement -


हमीरपुर। मेडिकल कॉलेज अस्पताल हमीरपुर में एक पूर्व सैनिक की पांच साल की मासूम बच्ची के इलाज ना मिल पाने के मामले पर राजनीति गरमा गई है। कांग्रेस ने भी पूर्व सैनिक की बेटी का इलाज ना होने पर सरकार और स्वास्थ्य विभाग की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए इसकी उच्च स्तरीय जांच की मांग की है। पूर्व सैनिक विपिन कुमार ने बच्ची का इलाज ना किए जाने पर रोष जताते हुए जयराम सरकार में कैबिनेट मंत्री की पोती के इलाज के लिए हेलिकॉप्टर भेजे जाने पर सवालिया निशान खड़े किए हैं। याद रहे कि तीन दिन पहले कक्कड़ के पूर्व सैनिक विपिन कुमार अपनी पांच साल की बेटी आरूषि को लेकर हमीरपुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल पहुंचा था। बच्ची की टांग में दो फ्रैक्चर आए हुए थे और सुजानपुर से रैफर की गई थी, लेकिन करीब दो घंटे तक दर्द से तड़पती हुई बेटी को किसी भी डॉक्टर के द्वारा इलाज ना किए जाने पर पूर्व सैनिक ने सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल किया था, जिस पर डॉक्टर भी इलाज करने की बजाए बाहर भागते हुए दिखे थे। बाद में निजी अस्पताल में पूर्व सैनिक ने बच्ची का इलाज करवाया। प्रदेश कांग्रेस वरिष्ठ उपाध्यक्ष अनीता वर्मा ने पूर्व सैनिक की बेटी अस्पताल में तड़पती रही है लेकिन किसी डॉक्टर ने उसका इलाज नहीं किया, वहीं एक मंत्री की पोती गिरती है तो हेलीकॉप्टर से अस्पताल पहुंचाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि एक पूर्व सैनिक की बेटी के साथ हुई घटना की जांच की जाए और पता किया जाए कि किसने लापरवाही की है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुखविन्द्र सिंह सुक्खू ने कहा कि इलाज के लिए सभी के लिए एक समान काम होना चाहिए और अगर मंत्री की पोती के लिए हेलीकॉप्टर आता है तो आम जनता के लिए भी वैसे ही सुविधा मिलनी चाहिए। उधर, सीएमओ डॉ अर्चना सोनी का कहना है कि मेडिकल कॉलेज अस्पताल पहुंचने वाले सभी मरीजों का इलाज किया जाता है और बच्ची के इलाज के लिए किसी डॉक्टर ने लापरवाही की है इसकी जानकारी नहीं है।

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED VIDEO

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है