Covid-19 Update

2,06,832
मामले (हिमाचल)
2,01,773
मरीज ठीक हुए
3,511
मौत
31,810,427
मामले (भारत)
200,650,253
मामले (दुनिया)
×

PM के बयान से लोगों ने समझा- गलवान में हुई चीनी घुसपैठ; सवाल उठने पर PMO ने दी सफाई

PM के बयान से लोगों ने समझा- गलवान में हुई चीनी घुसपैठ; सवाल उठने पर PMO ने दी सफाई

- Advertisement -

नई दिल्ली। लद्दाख की गलवान घाटी में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प में 20 भातीय जवानों की शहादत के बाद पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की अध्यक्षता में शुक्रवार को सर्वदलीय बैठक का आयोजन किया गया। इस बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी ने इस बात का दावा किया कि हमारी जमीन में कोई ना घुसा है, ना घुसा था। जिसके बाद पीएम के इस बयान को आधार बनाते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र पर हमला बोलते हुए आरोप लगाया कि पीएम ने चीन के आक्रामक रवैये के सामने देश की जमीन सरेंडर कर दी है। इसके साथ ही राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने इस मसले को लेकर कई सवाल भी खड़े किए, जिससे भ्रम की स्थिति उत्पन्न हो गई। अब इन तमाम सवालों के बीच प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) की तरफ से पीएम के इस बयान को लेकर सफाई पेश की गई है।

पिछले 60 साल में 43000 वर्ग किलोमीटर भूभाग पर कब्जा किया गया है

पीएम नरेंद्र मोदी के बयान को लेकर विवाद होता देख सरकार ने पीएम के बयान को तोड़-मरोड़कर व्याख्या करने के प्रयास का आरोप लगाते हुए कहा है कि पीएम मोदी ने यह साफ कर दिया था कि लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर हमारी तरफ स्ट्रक्चर खड़ा करने की चीनी कोशिशें 16 बिहार रेजिमेंट के जवानों ने बहादुरी दिखाते हुए नाकाम कर दी थीं। हमारे जवानों की बहादुरी के चलते हमारी सीमा में चीन (China) की कोई मौजूदगी नहीं है। सरकार की तरफ से आगे कहा गया कि भारत (India) का क्षेत्र कितना है, यह हमारे नक्शे से स्पष्ट है। सरकार इसकी रक्षा के लिए संकल्पबद्ध है। सरकार की तरफ से आगे बताया गया कि सर्वदलीय बैठक में इस पर भी जानकारी दी गई कि पिछले 60 साल में 43000 वर्ग किलोमीटर भूभाग पर कब्जा किया गया है, जिसकी जानकारी देश को है। हम एलएसी पर एकतरफा परिवर्तन नहीं करने देंगे। एलएसी में बदलाव की किसी भी कोशिश का भारत मजबूती से जवाब देगा। ऐसी चुनौतियों का भारतीय सेना पहले की अपेक्षा मजबूती से सामना करती है।


यह भी पढ़ें: खुशखबरी: आ गई Covid-19 का इलाज करने वाली दवा; 103 रुपए है एक गोली का दाम

प्रोपेगैंडा फैलाकर भारतीयों की एकजुटता को कम नहीं किया जा सकता

पीएम ऑफिस की तरफ से आगे बताया गया कि सर्वदलीय बैठक में यह जानकारी भी दी गई कि इस बार चीनी सेना इस बार कहीं अधिक ताकत के साथ एलएसी पर आई। यह भी स्पष्ट रूप से कहा गया था कि 15 जून को गलवान में हिंसा हुई थी, क्योंकि चीनी सैनिक एलएसी पर संरचना खड़ा कर रहे थे और इस तरह के कार्य से रोकने पर मानने से इनकार कर दिया। पीएम के बयान 15 जून को गलवान में हुई घटना पर आधारित थे, जिसमें 20 सैनिकों की जान चली गई थी। पीएमओ ने आगे कहा कि ऐसे समय में, जब हमारे बहादुर सैनिक हमारी सीमाओं की रक्षा कर रहे हैं। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि उनका मनोबल कम करने के लिए अनावश्यक विवाद खड़ा किया जा रहा है। पीएम के बयान पर खड़े किए जा रहे विवाद को प्रोपेगैंडा बताते हुए सरकार ने कहा है कि इससे भारतीयों की एकजुटता को कम नहीं किया जा सकता।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है