Covid-19 Update

2,00,603
मामले (हिमाचल)
1,94,739
मरीज ठीक हुए
3,432
मौत
29,944,783
मामले (भारत)
179,349,385
मामले (दुनिया)
×

जहर मिलाने का मामला : टैंक तोड़ने के लिए आईपीएच विभाग पर उठे सवाल

जहर मिलाने का मामला : टैंक तोड़ने के लिए आईपीएच विभाग पर उठे सवाल

- Advertisement -

करसोग। उपमंडल करसोग (Karsog Subdivision) के तहत मगरू गांव में आईपीएच के टैंक (IPH Tank) में जहर (Poison) मिलाने के मामले में पानी के टैंक तोड़ने पर कई सवाल उठने लगे हैं। विभाग के अधिकारी कुछ कह रहे हैं और स्थानीय अधिकारी कुछ और। आईपीएच विभाग मंडल करसोग के अधिशाषी अभियंता संदीप चौधरी का कहना है अगर यह टैंक पक्का और मजबूत था और किसी भी तरह की चूक नहीं थी तो विभाग ने इस टैंक को तोड़ने के आदेश क्यों दिए। जबकि विभाग के जेई का तर्क है कि टैंक में कीटनाशक मिलाने के बाद इसकी बदबू नहीं जा रही थी, इसलिए दो दिन बाद टैंक तोड़ना पड़ा। विभाग किसी भी तरह की जिम्मेदारी लेने से इनकार कर रहा है।

यह भी पढ़ें :    टैंक में जहर मिलाने का मामला: आरोपी का खुलासा, आपसी रंजिश के चलते मिलाया था जहर


जाहिर है कि मगरू गांव में शुक्रवार को एक व्यक्ति ने उस समय पानी के टैंक (Water tank) में जहर मिला दिया था, जब गांव में बारात आई हुई थी। शादी समारोह में आए एक व्यक्ति की सूझबूझ से बड़ी अनहोनी टल गई थी। इसके बाद विभाग ने पानी के टैंक को इसलिए तोड़ दिया था क्योंकि टैंक से बदबू नहीं जा रही थी। ऐसे में सवाल यह उठता है कि अगर टैंक से बदबू नहीं जा रही थी तो विभाग के पास और भी कई तरीके थे। टैंक को सूखा कर पानी दोबारा भरा जा सकता था। इसको तोड़ने के बाद इलाके में पानी की आपूर्ति प्रभावित होगी उसमें किसी की जवाबदेही है।

आईपीएच विभाग मंडल करसोग के अधिशाषी अभियंता संदीप चौधरी का कहना है कि अगर यह टैंक पक्का और मजबूत था और किस्सी भी तरह की चूक नहीं थी तो विभाग ने इस टैंक को तोड़ने के आदेश क्यों दिए।

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें.

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है