Covid-19 Update

2,06,589
मामले (हिमाचल)
2,01,628
मरीज ठीक हुए
3,507
मौत
31,767,481
मामले (भारत)
199,936,878
मामले (दुनिया)
×

आज से होगा राहु व केतु का राशि परिवर्तन, जानिए अपनी राशि पर इसका असर

आज से होगा राहु व केतु का राशि परिवर्तन, जानिए अपनी राशि पर इसका असर

- Advertisement -

राहु-केतु को बेहद रहस्यमय ग्रह माना गया है। ये अपना क्या प्रभाव छोड़ेंगे, इस बात का अंदाजा लगाना बेहद मुश्किल होता है। ज्योतिर्विद प. दयानन्द शास्त्री का कहना है कि राहु और केतु दो ऐसे ग्रह हैं जो किसी भी राशि में 18 माह तक रुकते हैं। इनका राशि परिवर्तन तेजी से नहीं होता और न ही ये बहुत ज्यादा गतिशील हैं। राहु-केतु के राशि परिवर्तन का प्रभाव सभी राशियों पर पड़ता है। राहु खगोलीय दृष्टि से कोई ग्रह भले न हो लेकिन ज्योतिष में राहू का बहुत अधिक महत्व है। राहु के साथ केतु का भी नाम लिया जाता है क्योंकि दोनों एक दूसरे के विपरीत बिंदुओं पर समान गति से गोचर करते हैं। राहु को जन्म से ही वक्री ग्रह माना जाता है।

  • इस वर्ष राहु-केतु का 18 अगस्त 2018 को राशि परिवर्तन हो रहा है। राहु कर्क में और केतु मकर राशि में 7 मार्च 2019 तक रहेंगे।
  • कर्क राहु के शत्रु चंद्रमा की राशि है। मकर केतु के मित्र शनि की राशि है। राहु-केतु का राशि परिवर्तन -वृष, कन्या, वृश्चिक, कुंभ और मीन वालों के लिए शुभ रहेगा।
  • वहीं मेष, मिथुन, कर्क, सिंह, तुला, धनु और मकर राशि वाले लोगों की परेशानियां बढ़ सकती हैं।


यदि कुंडली में राहु मजबूत स्थिति में है तो यह व्यक्ति को जीवन में मान-सम्मान और राजनीतिक सफलताएं प्रदान करता है। इसके विपरीत यदि कुंडली में राहु की स्थिति प्रतिकूल है तो यह अनेक प्रकार की शारीरिक व्याधियां पैदा करता है। इसे कार्य सिद्धि में बाधाएं उत्पन्न करने वाला तथा दुर्घटनाओं का जनक माना जाता है। इसके अतिरिक्त राहु मानसिक तनाव, धन हानि और झूठ बोलने आदि का कारक भी होता है। यह रातों रात आपको फ़र्श से अर्श तक पहुंचा सकता है और यदि परिस्थितियों विपरीत हुईं तो यह आपको अर्श से फ़र्श तक भी ला सकता है। राजनीति से जुड़ें जातकों के लिए राहु ग्रह की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। साल 2018 में राहु ग्रह कर्क राशि में स्थित रहेगा और फिर 07 मार्च 2019 (गुरुवार) को यह 02:48 बजे यहां से मिथुन राशि में गोचर करेगा।

दयानन्द शास्त्री के अनुसार राहु को अनैतिक कृत्यों का कारक भी माना जाता है। शनि के बाद राहु-केतु ऐसे ग्रह हैं जो एक राशि में लंबे समय लगभग 18 महीने तक रहते हैं। ऐसे में राहु का राशि परिवर्तन करना एक बड़ी ज्योतिषीय घटना मानी जाती है समस्त ग्रहों में राहु को एक क्रूर स्वभाव और बुद्धि को भ्रमित कर देने वाले छाया ग्रह के नाम से जाना जाता है। राहु के प्रभाव से मनुष्य के जीवन में रहस्यमयी और अप्रत्याशित परिवर्तन होते हैं। इसके फलस्वरूप जीवन में अचानक कोई बड़ा परिवर्तन और हादसे घटित होते हैं। हालांकि ये सुखद और दुखद दोनों हो सकते हैं।

जानिए किस राशि पर होगा क्या प्रभाव

  • मेषः समस्याओं से निजात व खुशहाली रहेगी।
  • वृष- व्यापार में नुकसान की आशंका बनी रहेगी, चिंता से उलझन बढ़ेगी।
  • मिथुन- सामाजिक स्तर गिरेगा, अपराध बोध होगा।
  • कर्क- शारीरिक कष्ट व दुर्घटना की आशंका बनी रहेगी।
  • सिंह- परिवार में सुख-शांति आएगी, जटिल समस्याओं का होगा निदान।
  • कन्या- मानसिक पीड़ा, शारीरिक कष्ट सताएगा।
  • तुला- आर्थिक परेशानी और पारिवारिक दिक्कतों का करना पड़ेगा सामना।
  • वृश्चिक- कार्यक्षेत्र में प्रभाव बढ़ेगा, होगा आर्थिक लाभ।
  • धनु- मानसिक उत्पीड़न, व्यापार में धनहानि की आशंका बनेगी।
  • मकर- शारीरिक चोट, शत्रुओं से भय के साथ वाहन दुर्घटना की आशंका।
  • कुंभ- सामाजिक यश-कीर्ति में बढ़ोतरी, आर्थिक लाभ।
  • मीन- सम्मान और वैभव के साथ आर्थिक लाभ मिलेगा।

इन उपायों से होगा लाभ

चांदी के आभूषण पहनें। काले कुत्ते को रोटी व अन्य खाद्य पदार्थ खिलाएं। भगवान शिव की आराधना करें। भैरव बाबा के मंदिर जाकर दर्शन कीजिए और पूजा-अर्चना करें।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है