Covid-19 Update

1,98,877
मामले (हिमाचल)
1,91,041
मरीज ठीक हुए
3,382
मौत
29,548,012
मामले (भारत)
176,842,131
मामले (दुनिया)
×

आंध्र के 6000 मछुआरे गुजरात में एक माह से नावों पर रह रहे, सरकार Relief Camp ले जाए: राहुल

आंध्र के 6000 मछुआरे गुजरात में एक माह से नावों पर रह रहे, सरकार Relief Camp ले जाए: राहुल

- Advertisement -

नई दिल्ली। भारत में जारी कोरोना वायरस (Coronavirus) के कहर के बीच देश के प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने शनिवार को सरकार से गुजरात में फंसे हुए आंध्र प्रदेश के 6000 मछुआरों के लिए मदद मांगी है। एक खबर शेयर करते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा है कि गुजरात (Gujarat) में फंसे आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) के 6000 मछुआरे एक माह से अस्वास्थ्यकर स्थिति में सीमित भोजन व पानी के साथ अपनी नावों में रह रहे हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें उनकी नौकाओं पर रखा गया है जहां साफ-सफाई की उचित व्यवस्था नहीं है और उनके लिए सीमित खाना और पानी है।

यह भी पढ़ें: Covid-19: श्रीलंका ने भारत से मांगी मदद, RBI से करेगा 40 करोड़ डॉलर मुद्रा अदला-बदली करार

उन्होंने कहा, ‘मैं सरकार से अपील करता हूं कि हमारे इन मछुआरे भाइयों को राहत शिविरों में भेजा जाए और उनकी देखभाल सुनिश्चित की जाए।’ बता दें कि ये मछुआरे लॉकडाउन के बाद से ही नाव पर फंसे हुए हैं। सभी आंध्र प्रदेश के विजयानगरम और श्रीकुला जिलों में स्थित अलग-अलग गांवों से ताल्लुक रखते हैं। अपनी नावों में फंसे इन मछुआरों ने वीडियो जारी करके कहा है कि उनके पास खाने का पर्याप्त सामान नहीं हैं और उन्हें तनख्वाह भी नहीं दी जा रही है। लगभग 6,000 मछुआरों को खराब स्वस्छता व्यवस्था में रहना पड़ रहा है। उनका कहना है कि सरकार ने अभी तक उन्हें राज्य द्वारा संचालित आश्रय गृहों में शिफ्ट नहीं किया है। यहां हमारे पास मूलभूत सुविधाएं तक नहीं हैं। अभी तक हमारे दो साथियों की मौत हो चुकी है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है