Covid-19 Update

2,00,410
मामले (हिमाचल)
1,94,249
मरीज ठीक हुए
3,426
मौत
29,933,497
मामले (भारत)
179,127,503
मामले (दुनिया)
×

मनाली से Raid De Himalaya रैली का आगाज, 1850 KM. का फासला होगा तय

मनाली से Raid De Himalaya रैली का आगाज, 1850 KM. का फासला होगा तय

- Advertisement -

कुल्लू। अग्रणी यात्री वाहन विनिर्माण कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड ने मारुति सुजुकी रेड डी हिमालया के 19 वें संस्करण को मनाली से रवाना किया। यह दुनिया की सबसे ऊंची ऐरीना रैली है। 170 से अधिक मोटरस्पोर्टस प्रेमी 110 टीमों में इस रैली में भाग ले रहे हैं। इस रैली का समापन लेह में 14 अक्टूबर को पुरस्कार वितरण समारोह के साथ होगा। यह रैली 17,500 फीट की अत्यधिक ऊंचाई पर हो रही है, जहां तापमान शून्य से 15 डिग्री नीचे तक जा सकता है। यह रैली काज़ा, सार्चू, पैंग, लेह, कारगिल और पेन्सी ला से होकर गुजरेगी। इस मौके पर मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड के उपाध्यक्ष-मार्केटिंग संजीव हांडा ने कहा कि जोश और चुनौतियां देने की अपनी प्रतिबद्धता पर कायम रहते हुए हमने बहुत धूमधाम के साथ एक और जोशीले सफर को रवाना किया है।

दुनिया की 10 सबसे मुश्किल रैलियों में होती है गिनती

दुनिया की 10 सबसे मुश्किल रैलियों में गिनी जाने वाली यह रैली भारत में एक प्रतिष्ठित मोटरस्पोर्ट के आयोजन के रूप में विकसित हुई है। सन् 1999 में यह छोटी सी रैली केवल 19 टीमों के साथ शुरु हुई थी, तब से अब तक यह बहुत लंबा सफर रहा है, इस बार इसमें 110 टीमें भाग ले रही हैं, जिनमें 170 से ज्यादा प्रतियोगी शामिल हैं, जो कि भारतीय मोटरी रैली के इतिहास में सबसे प्रतिष्ठित खिताब के लिए मुकाबला करेंगे। पिछले साल टीम मारुति सुजुकी मोटरस्पोर्टस ने खिताब जीता था, जिसके चालक सुरेश राणा और सह-चालक पीवीएस मूर्ति थे। यह टीम इस साल अपनी ग्रैंड विटारा में अपने खिताब को बचाने उतरी है।


6 महिला और 8 आर्मी टीमें भी ले रहीं भाग

संदीप शर्मा व करन आर्या अपनी एस क्रॉस में, हरी कृष्णन व दिनेश धनकड़ अपनी इग्निस में, धर्मपाल जांगड़ा और थिनलेस नामगैल अपनी विटारा ब्रेज़ा में और सम्राट यादव व एसएन निज़ामी मारुति जिप्सी में इस रैली में हिस्सा ले रहे हैं। इस रैली में 6 महिला टीमें और 8 आर्मी टीमें भी हैं जो इस वर्ष विभिन्न श्रेणियों में हिस्सा लेंगी। सुरक्षा को सबसे अधिक प्राथमिकता दी गई है और इसलिए सभी प्रतियोगी रवाना होने से एक दिन पहले कड़ी जांच से गुजरेंगे। यह रैली तीन श्रेणियों में विभाजित है- ऐक्सट्रीम कार्स, ऐक्सट्री बाइक्स और ऐडवेंचर। सात दिनों की अवधि में करीबन 1850 किलोमीटर का फासला तय किया जाएगा

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है