Expand

शांता से हटकर बिंदल बोले – तपोवन में होनी चाहिए नेशनल ई-विधान अकेडमी

बोले, तपोवन में सेंट्रल यूनिवर्सिटी स्थापित करना सरकार का अधिकार क्षेत्र

शांता से हटकर बिंदल बोले – तपोवन में होनी चाहिए नेशनल ई-विधान अकेडमी

धर्मशाला। विधानसभा अध्यक्ष डॉ राजीव बिंदल ने तपोवन स्थित विधानसभा भवन की उपयोगिता बाबत बीजेपी सांसद शांता कुमार से उलट कहा है कि वह तो चाहते हैं कि यहां नेशनल ई विधान अकेडमी (NeVA) स्थापित हो। जब उनसे यह पूछा गया कि बीजेपी के वरिष्ठ नेता यह चाहते हैं कि इस जगह सेंट्रल यूनिवर्सिटी बनाई जाए तो उनका कहना था कि ये सरकार के अधिकार क्षेत्र का मसला है, इस पर उन्हें कुछ नहीं कहना है।
इससे पहले बीजेपी के कांगड़ा-चंबा से सांसद शांता कुमार तपोवन स्थित विधानसभा भवन की उपयोगिता को लेकर कह चुके हैं कि यहां पर सेंट्रल यूनिवर्सिटी का मुख्य कक्ष होना चाहिए। उनका तर्क था कि इससे इस भवन की वर्षभर उपयोगिता बनी रहेगी। आज जब डॉ. बिंदल विधानसभा के शीतकालीन सत्र की तैयारियों से पहले समीक्षा करने पहुंचे तो उन्होंने पत्रकारों से मुखाबित होते हुए इस जगह पर नेशनल ई- विधान अकेडमी की बात कही।
डॉ बिंदल आज सुबह ही यहां पहुंचे थे। देश की 40 एसेंबली में हिमाचल प्रदेश के ई-विधान मॉडल रोल आउट कराने के पक्ष में केंद्र से बात हुई और इसे नोटिफाई किया गया, जहां पर हमारे अधिकारी ट्रेनिंग देने जा रहे हैं। उनका कहना है कि नेवा का प्रस्ताव केंद्र सरकार के पास विचाराधीन है,अगर ऐसा हो जाता है तो यहां वर्षभर गतिविधियां चलेंगी। इससे देशभर के सांसद-विधायक यहां ट्रेनिंग के लिए आएंगे,इससे धर्मशाला का नाम होगा। जब उनसे पूछा गया कि क्या विधानसभा के सत्र से पहले तैयारियां पूरी हैं तो उनका कहना था कि अगर कोई कमी भी है तो उसे बेहतर किया जाना चाहिए।
बिंदल ने कहा कि विधानसभा भवन लम्बे समय तक बंद रहता है, जिसके कारण कहीं बरसात के कारण काई लग जाती है। जिन्हें जिम्मेदारी दी है उन्हें साफ सफाई के काम को ठीक से करना होगा और यह सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है। अगर कोई ठीक से काम नहीं कर पा रहा है तो उसे निश्चित तौर पर यहां से बदलकर शिमला जाना होगा।

शीतकालीन सत्र में इतने सवालों के नोटिस आए :

  • 6 दिन के लिए 344 तारांकित सवाल
  • 93 अतारांकित सवाल
  • कुल लगभग 425 सवाल
  • 1 दिन में लगभग 70 सवाल

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Advertisement
Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Advertisement

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है