Covid-19 Update

2,17,615
मामले (हिमाचल)
2,12,133
मरीज ठीक हुए
3,643
मौत
33,563,421
मामले (भारत)
230,985,679
मामले (दुनिया)

अयोध्या: सम्पन्न हुआ राम मंदिर शिलान्यास कार्यक्रम, PM बोले- राम काज कीनु बिन मोहि कहां विश्राम

अयोध्या: सम्पन्न हुआ राम मंदिर शिलान्यास कार्यक्रम, PM बोले- राम काज कीनु बिन मोहि कहां विश्राम

- Advertisement -

अयोध्या। भगवान श्री राम की जन्म स्थली अवधपुरी यानी आज की अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए शिलान्यास कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर मौजूद पीएम नरेंद्र मोदी ने मंदिर की आधारशिला रखी। इस दौरान पीएम मोदी के अलावा उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, आरएसएस चीफ मोहन भागवत समेत देश भर से पधारे संत जन मौजूद रहे। पीएम मोदी ने अभिजीत मुहूर्त में मंदिर का शिलान्यास किया। पीएम ने शिला रखकर भूमि को प्रणाम किया। पीएम मोदी ने ठीक 12:44:08 बजे शिला रखी।

पीएम मोदी ने संबोधन की शुरुआत रामायण की चौपाई से की, ‘राम काज कीनु बिन मोहि कहां विश्राम।’ उन्होंने आगे कहा, ‘सदियों का इंतजार आज समाप्त हो रहा है। पूरा भारत भावुक है। करोड़ों लोगों को तो आज विश्वास ही नहीं हो रहा होगा कि वे इस पावन क्षण को देख रहे हैं। जो जहां है इस आयोजन को देख रहा है। वह भावविभोर है। सभी को आशीर्वाद दे रहा है।’ मोदी ने कहा कि श्रीराम का मंदिर हमारी संस्कृति का आधुनिक प्रतीक बनेगा, हमारी शाश्वत आस्था का प्रतीक बनेगा, हमारी राष्ट्रीय भावना का प्रतीक बनेगा और ये मंदिर करोड़ों-करोड़ लोगों की सामूहिक संकल्प शक्ति का भी प्रतीक बनेगा। राममंदिर के निर्माण की ये प्रक्रिया, राष्ट्र को जोडऩे का उपक्रम है। ये महोत्सव है- विश्वास को विद्यमान से जोड़ने का। नर को नारायण से, जोड़ने का, लोक को आस्था से जोड़ने का, वर्तमान को अतीत से जोड़ने का और स्वं को संस्कार से जोडऩे का।

पीएम मोदी ने कहा कि राम हमारे मन में गढ़े हुए हैं, हमारे भीतर घुल-मिल गए हैं। कोई काम करना हो, तो प्रेरणा के लिए हम भगवान राम की ओर ही देखते हैं आप भगवान राम की अद्भुत शक्ति देखिए। इमारतें नष्ट कर दी गईं, अस्तित्व मिटाने का प्रयास भी बहुत हुआ, लेकिन राम आज भी हमारे मन में बसे हैं, हमारी संस्कृति का आधार हैं। श्रीराम भारत की मर्यादा हैं, श्रीराम मर्यादा पुरुषोत्तम हैं। राम मंदिर के लिए चले आंदोलन में अर्पण भी था तर्पण भी था, संघर्ष भी था, संकल्प भी था। जिनके त्याग, बलिदान और संघर्ष से आज ये स्वप्न साकार हो रहा है, जिनकी तपस्या राममंदिर में नींव की तरह जुड़ी हुई है, मैं उन सब लोगों को आज 130 करोड़ देशवासियों की तरफ से नमन करता हूं।

पीएम मोदी ने कहा कि भारत, आज भगवान भास्कर के सानिध्य में सरयू के किनारे एक स्वर्णिम अध्याय रच रहा है। कन्याकुमारी से क्षीरभवानी तक, कोटेश्वर से कामाख्या तक, जगन्नाथ से केदारनाथ तक, सोमनाथ से काशी विश्वनाथ तक, सम्मेद शिखर से श्रवणबेलगोला तक, बोधगया से सारनाथ तक, अमृतसर से पटना साहिब तक, अंडमान से अजमेर तक, लक्ष्यद्वीप से लेह तक, आज पूरा भारत, राम मय है। पीएम मोदी ने कहा कि आज बरसों से टाट और टेंट के नीचे रह रहे हमारे रामलला के लिए अब एक भव्य मंदिर का निर्माण होगा। टूटना और फिर उठ खड़ा होना, सदियों से चल रहे इस व्यतिक्रम से रामजन्मभूमि आज मुक्त हो गई है। उन्होंने कहा कि ये मेरा सौभाग्य है कि श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने मुझे आमंत्रित किया, इस ऐतिहासिक पल का साक्षी बनने का अवसर दिया। मैं इसके लिए हृदय पूर्वक श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट का आभार व्यक्त करता हूं।

Live Update:-

पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने अयोध्या पहुंचकर सबसे पहले हनुमानगढ़ी मंदिर में पूजा की, इसके बाद रामलला के दर्शन कर भूमि पूजन के कार्यक्रम में शामिल हुए। इस दौरान उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ समेत कई मेहमान भूमि पूजन में मौजूद रहे। पूजा करने वाले संत ने बताया कि देश और दुनिया के अलग-अलग हिस्सों से शिलाएं लाई गई हैं, जिनपर श्रीराम का नाम लिखा है। इसी के साथ ही अब भूमि पूजन का काम शुरू हो गया है, पीएम मोदी के नाम पर शिलाएं रखी जा रही हैं।

 

 

 

शुभ मुहूर्त दोपहर 12 बजकर 15 मिनट 15 सेकंड पर पीएम नरेंद्र मोदी के हाथों श्रीराम जन्मभूमि स्थल पर मंदिर निर्माण के लिए भूमिपूजन के साथ ही औपचारिक रूप से मंदिर निर्माण के कार्य का शुभारंभ हो जाएगा। इसके साथ ही करोड़ों रामभक्तों के इंतजार के साथ ही उनके सारे संशय और असमंजस भी समाप्त हो जाएंगे।

 

 

राम मंदिर के भूमि पूजन से पहले अयोध्या (Ayodhya) राममय हो गई है। हर तरफ राम नाम का संकीर्तन हो रहा है। जय श्रीराम के नारे की गूंज सुनाई दे रही है। हल्की बारिश भी हो रही है। हालांकि, कार्यक्रम स्थल पर वाटरप्रूफ टेंट लगाए गए हैं।

 

 

अब लोगों को इंतजार रहेगा तो सिर्फ उस घड़ी का जब मंदिर निर्माण पूर्ण होने के बाद रामलला अपने मूल स्थान पर विराजेंगे। इस ऐतिहासिक पल का साक्षी बनेंगी राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, सीएम योगी आदित्यनाथ, संघ प्रमुख मोहन भागवत, श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास समेत तमाम हस्तियां। भूमिपूजन कार्यक्रम (Bhoomi pujan) के दौरान पीएम मोदी करीब तीन घंटे तक रामनगरी में रहेंगे। मंदिर निर्माण के साथ ही अयोध्या और अयोध्यावासियों की परीक्षा भी खत्म हो जाएगी जो हर वर्ष हर पर्व और त्योहार के साथ हर 6 दिसंबर को देनी पड़ती थी। इस तारीख के आसपास दिखने वाली सहमी अयोध्या की तस्वीरें भी अब बीती बात हो जाएगी। भक्तों को अपने अराध्य तक जाने की राह में बाधाएं तो हटेंगी ही सुरक्षा बलों की अनावश्यक टोकाटाकी से भी मुक्ति की राह खुल जाएगी। अयोध्या की छावनी वाली छवि भी बदल जाएगी। राममंदिर निर्माण के साथ हनुमान मंदिर, सीतारसोई, रामखजाना, कैकेयी भवन, कोपभवन, रंगमहल, दशरथ भवन और कनकभवन जैसे कई ऐतिहासिक स्थानों (Historical places) की वीरानगी टूटने का इंतजार भी खत्म हो जाएगा।

 

 

मंदिर निर्माण के लिए इन स्थानों से आई मिट्टी और पवित्र जल

गंगा, यमुना, नर्मदा, गोदावरी, कृष्णा, कावेरी, सिंधु, ब्रह्मपुत्र, सतलुज, रावी, चिनाब व व्यास समेत अन्य नदियां। रामभक्तों ने देश के प्रसिद्ध पवित्र कुण्डों का जल भी अयोध्या भेजा है। हल्दीघाटी, चित्तौड़ दुर्ग, स्वर्ण मंदिर के कुण्ड का जल व मिट्टी, वैष्णो देवी, मैसेकर घाट, सभी ज्योतिर्लिंगों के प्रांगण की मिट्टी, सरस्वती उद्गम स्थल का जल व रज, रविदास मंदिर काशी, बाबा साहेब आंबेडकर की इच्छा भूमि व संघ की उद्गम स्थली नागपुर की रज व पवित्र जल, मानसरोवर की पवित्र रज व जल। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि भूमिपूजन/शिलान्यास, ना केवल मंदिर का है, वरन एक नए युग का भी है। प्रभु श्रीराम का जीवन संयम की शिक्षा देता है। हमें भी संयम रखते हुए वर्तमान परिस्थितियों के दृष्टिगत शारीरिक दूरी बनाए रखना है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि वे घर में ही भूमिपूजन व शिलान्यास के कार्यक्रम को लाइव देखें। घरों में दीपक जलाएं। पूज्य संत एवं धर्माचार्यगण देवमंदिरों में अखंड रामायण का पाठ करें एवं दीप जलाएं।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है