Covid-19 Update

2,05,017
मामले (हिमाचल)
2,00,571
मरीज ठीक हुए
3,497
मौत
31,341,507
मामले (भारत)
194,260,305
मामले (दुनिया)
×

रणधीर बोले, जमानत पर रिहा CM Virbhadra के नाम Record

रणधीर बोले, जमानत पर रिहा CM Virbhadra के नाम Record

- Advertisement -

Randhir : बिलासपुर। आय से अधिक संपत्ति मामले व भ्रष्टाचार के आरोपों में संलिप्त सीएम वीरभद्र सिंह ने अब एक बड़ा रिकॉर्ड बना लिया है और वह देश के ऐसे पहले सीएम बन गए हैं जोकि जमानत पर बाहर हैं। प्रदेश की जनता के लिए यह बड़े ही शर्म की बात है और इसके विपरीत कांग्रेस नेता  इसे एक बड़ी जीत बताकर जनता के बीच हास्य का पात्र बन रहे हैं। यह बात यहां परिधि गृह में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में रणधीर शर्मा ने कही। उन्होंने कहा कि सीएम वीरभद्र सिंह अभी तक इस केस से बरी नहीं हुए हैं, बल्कि उन्हें जमानत मिली है।

BJP के प्रदेश उपाध्यक्ष रणधीर शर्मा ने कसे तंज

उन्होंने कहा कि पूर्व मंत्री द्वारा इसे असत्य पर सत्य की विजय कहना अपने आपमें एक मजाक है। क्योंकि मामला आय से अधिक संपत्ति और भ्रष्टाचार से जुड़ा है और आरोप तय हुए और अब जमानत हुई है। वह इस केस से बरी नहीं हुए हैं, जिसे जीत कहा जाए। जमानत वाला व्यक्ति तो कभी भी गिरफ्तार हो सकता है। उन्होंने सीएम के खिलाफ केंद्र सरकार द्वारा षड्यंत्र रचने के आरोपों को निराधार बताया और कहा कि सब जानते हैं कि यह मामला केंद्र की यूपीए सरकार के समय का है। 


पानी देने के बजाए खोले जा रहे शराब ठेके

जिला व नयनादेवी हलके में व्याप्त पेयजल संकट पर रणधीर शर्मा ने आईपीएच विभाग और जिला प्रशासन पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि नयनादेवी हलके के विभिन्न क्षेत्रों में पानी का गंभीर संकट चल रहा है और लोग हर रोज दूरदराज क्षेत्रों की दौड़ लगाने को विवश हैं। यही नहीं, कई जगहों पर लोगों को खरीदकर पानी का जुगाड़ करना पड़ रहा है। उन्होंने प्रशासन व सरकार से मांग की है कि जहां संभव हो सके उन क्षेत्रों के लिए ट्रैक्टर या फिर टैंकरों के माध्यम से पानी की आपूर्ति सुनिश्चित की जाए। 

बकाया दो, नहीं तो आंदोलन में कूदेगी बीजेपी

विधायक रणधीर शर्मा ने इस बात पर रोष जताया कि लंबे समय से आंदोलनरत जेपी बाग्गा के ट्रक ऑपरेटरों की बकाया राशि का भुगतान नहीं हो पा रहा है। न शासन और न ही प्रशासन व कंपनी प्रबंधन इस बाबत गंभीर नजर आ रहे हैं। विधानसभा के बाहर धरना प्रदर्शन को भी बीजेपी ने समर्थन दिया है और अब यदि बात नहीं बनती है तो बीजेपी  को ऑप्रेटरों के आंदोलन में खुलकर आगे आने से कोई गुरेज नहीं होगा

Dhumal की चुनौतीः सरकार में दम है तो पार्टी चिन्ह पर करवाएं…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है