Expand

Hamara Agenda : दालें हैं नहीं, तड़का भी अब रिफाइंड का

Hamara Agenda : दालें हैं नहीं, तड़का भी अब रिफाइंड का

- Advertisement -

टीम। हिमाचल प्रदेश के 14 लाख राशनकार्ड धारक सरकार की घोषणाओं के पूरा होने के इंतजार में हैं। मसला तीन दालों का है। हालात यह हैं कि कहीं तो तीन-तीन दालें मिल रहीं हैं मगर कहीं एक ही है। कुछ क्षेत्रों में तो पिछले माह का ही कोटा नहीं पहुंच पाया है। सबसे ज्यादा परेशानी दूरदराज के क्षेत्रों में है। यहां अभी तक दालें नहीं पहुंच पाई हैं। जो एक दाल पहले मिल भी रही थी उसका भी स्टॉक खत्म हो गया है।

  • राशन के सभी डिपुओं पर अभी नहीं पहुंची तीन दालें
  • सरसों के तेल के लिए भी करना होगा अब इंतजार
  • दूरराज के राशन डिपुओं में तो एक भी दाल नहीं

सरकार की घोषणा के अनुसार अब राजमाह, उड़द, काले चने और चने की दाल डिपुओं में नहीं मिलेगी। इसकी जगह काले मसूर, लाल मसूर की दाल और रौंगी मिलेगी। उपभोक्ताओं को तड़के में सरसों के तेल की महक के लिए भी इंतज़ार करना होगा क्योंकि सरसों के तेल की बजाए उन्हें फिलहाल रिफाइंड तेल ही मिलेगा।

daalकहीं तीन दालें, कहीं एक भी नहीं

उपभोक्ताओं को सरकार द्वारा की गई घोषणा के मुताबिक एक राशन कार्ड पर तीन-तीन दालें राशन के डिपुओं पर ही मिलनी हैं। लेकिन राजधानी समेत प्रदेश के कई जिलों में कुछ राशन डिपो पर तीन-तीन दालें पहुंची ही नहीं हैं। इन हालात में दूरदराज के इलाकों की स्थिति को तो सहज ही समझा जा सकता है। राजधानी शिमला में के राशन डिपो पर तीन दालें आई तो थीं, लेकिन इनमें से एक दाल का स्टॉक खत्म हो गया है। ऐसे में उपभोक्ताओं को दो-दो दालें ही मिल पा रही हैं। राजधानी के उपनगर संजौली में एक राशनकार्ड धारक को दो ही दालें मिल रही हैं। इस डिपो में इस माह के शुरू में तीन दालें पहुंची थीं, लेकिन एक दाल का स्टाक कुछ दिन पहले खत्म हो गया। अब इस डिपो में दो-दो दालें ही मिल रही हैं।

rationनहीं पहुंचा अक्टूबर का कोटा

वहीं, राजधानी के उपनगर ढली में अभी तक उपभोक्ताओं को इस माह एक ही दाल मिल रही है। उपभोक्ता जब राशन डिपो में दाल आने की जानकारी ले रहे हैं तो उन्हें निराशा ही हाथ लग रही है। यहां एक ही दाल की सप्लाई आई है और बाकी दालों का इंतजार है। सरकार ने अक्टूबर से तीन-तीन दालें देने का ऐलान किया था, लेकिन यह घोषणा पूरी तरह से लागू नहीं हो रही है। इससे लोगों में रोष है और उनका कहना है कि यदि सरकार कोई घोषणा करती है तो उसे सही रूप में लागू करना चाहिए। इसके अलावा घोषणा तभी हो, जब सरकार के गोदामों में उसका स्टाक हो।

confused-manगोदामों से आगे नहीं बढ़ा राशन

राशन की टेंशन जिला कांगड़ा के राशन डिपुओं में भी है। उपभोक्ताओं को अक्टूबर का कोटा मिलने का इंतज़ार है। विभागीय अधिकारियों का दावा है कि जल्द ही तीन दालें उपलब्ध हो जाएंगी। कुछ डिपुओं में इसकी आपूर्ति हो चुकी है तो शेष डिपुओं में जल्दी ही यह कोटा पहुंच जाएगा। गोदामों में पर्याप्त स्टॉक पहुंच चुका है और आगामी दो-तीन दिन में स्टॉक दूरदराज के क्षेत्रों के सभी डिपुओं में होगा।

जल्द पहुंचेगा डिपुओं में राशन

जिला खाद्य एवं आपूर्ति नियंत्रक राजीव शर्मा का कहना है कि जल्द ही डिपुओं में राशन पहुंच जाएगा। हालांकि इस दौरान खराब राशन की कोई शिकायत उनके पास नहीं पहुंची है। अच्छी क्वालिटी का आटा चावल और अन्य खाद्य पदार्थ उपभोक्ताओं को उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। उनका कहना है कि गोदामों से राशन डिपुओं में पहुंचाने का काम जारी है और गोदामों में पर्याप्त स्टॉक है। नोटबंदी के चलते अभी तक डिपो धारकों या उपभोक्ताओं को हो रही कोई शिकायत भी उनके पास नहीं पहुंची है। इस बारे में जरूरी दिशानिर्देश पहले ही जारी कर दिए गए हैं। उनका कहना है कि लोग खुद भी जागरूक हो गए हैं और पुराने नोटों का इस्तेमाल केवल तय स्थानों पर ही कर रहे हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है