Covid-19 Update

58,543
मामले (हिमाचल)
57,287
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,079,094
मामले (भारत)
113,988,846
मामले (दुनिया)

एक नहीं 2 मस्जिदों को बनाया निशाना, CCTV भी तोड़े ; भड़के लोग, डेढ़ घंटे NH जाम

एक नहीं 2 मस्जिदों को बनाया निशाना, CCTV भी तोड़े ; भड़के लोग, डेढ़ घंटे NH जाम

- Advertisement -

मोलियो मस्जिद में धार्मिक ग्रंथ जलाया, पीपली वाला में सीसीटीवी कैमरे तोड़े

सचिन ओबरॉय/पांवटा साहिब। माजरा क्षेत्र के तहत मोलियो स्थित मस्जिद में रखे धार्मिक ग्रंथ को फाड़ कर जलाने और पीपलीवाला मस्जिद के सीसीटीवी कैमरे तोड़ने के मामले ने तूल पकड़ लिया है। इन घटनाओं से गुस्साए लोगों ने चंडीगढ़-देहरादून एनएच-07 पर जाम लगा दिया, जोकि डेढ़ घंटे बाद बहाल हो पाया। पुलिस और प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। शरारती तत्वों ने एक ही रात में दो मस्जिदों को निशाना बनाया मोलियो स्थित मस्जिद में धार्मिक ग्रंथ को जलाया वहीं पीपली वाला मस्जिद में लगे सीसीटीवी कैमरे भी एक बार फिर से तोड़ दिए। लोगों ने डीएसपी पांवटा से बैठक की और पिपलीवाला और मोलियो मस्जिद में हुए घटना की जांच के जल्द नतीजे देने की मांग की। अनुमान लगाया जा रहा है कि शरारती तत्वों ने पहले मोलियो मस्जिद में वारदात की उसके बाद पिपलीवाला मस्जिद के सीसीटीवी कैमरे तोड़े।

religious bookआधी रात के बाद दिया घटना को अंजाम, डीसपी प्रमोद चौहान मौके पर पहुंचे

मोलियो स्थित मस्जिद में रात 12:00 बजे के बाद धार्मिक ग्रंथ को जलाया गया और घटना का पता सोमवार सुबह उस समय चला जब मस्जिद के मौलवी नमाज अदा करने के लिए पहुंचे। मौलवी ने यहां रखे धार्मिक ग्रंथ के जले हुए टुकड़े देखे तो इसकी सूचना तुरंत स्थानीय कमेटी को दी। कमेटी ने इस बारे में पुलिस को सूचित किया। सूचना मिलते ही माजरा थाना पुलिस कर्मियों सहित पांवटा के डीसपी प्रमोद चौहान मौके पर पहुंच गए हैं और मामले की जांच शुरू कर दी है। धार्मिक ग्रंथ के साथ इस तरह की बेअदबी के बाद क्षेत्र में तनाव है और लोग बार-बार हो रही इस तरह की घटनाओं को लेकर पुलिस विभाग से खासे नाराज हैं। मस्जिद के बाहर सैकड़ों की तादाद में लोग एकत्रित होकर तुरंत निष्पक्ष जांच की मांग कर रहे हैं।

पीपली वाला मस्जिद में दो साल से हो रही इस तरह की घटनाएं

लगभग दो साल से पीपली वाला मस्जिद में भी इस तरह की घटनाएं हो रही हैं। बता दें कि पिपली वाला मस्जिद में टंकी के पानी में जहर घोलने, मस्जिद के प्रांगण में शौच करने, मस्जिद की खिड़की को सुतली बम से उड़ाने और मस्जिद में आग लगाने की भी कोशिश की जा चुकी है। इन सभी मामलों के आरोपी अभी तक पुलिस की पहुंच से दूर हैं। लोगों का कहना है कि पुलिस जांच के नाम पर महज खानापूर्ति कर लोगों को शांत करने का प्रयास कर रही है, जबकि इन मामलों को बहुत गंभीरता से लिया जाना चाहिए। बार-बार हो रही घटनाओं के पीछे किन शरारती तत्वों का हाथ है और किस मंशा से ये कार्य किए जा रहे हैं इसका शीघ्र पता लगाए जाने की लोग मांग कर रहे हैं।

मस्जिद में रखे धार्मिक ग्रंथ को फाड़ कर जलाया, सैकड़ों की तादाद में लोग जुटे

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है