×

Government से सवालः आखिर चुनावी बेला में ही क्यों याद आए Outsourced workers

Government  से सवालः आखिर चुनावी बेला में ही क्यों याद आए Outsourced workers

- Advertisement -

धर्मशाला। प्रदेश की कांग्रेस सरकार को अब चुनावी वर्ष में पहुंचते ही आउटसोर्स कर्मियों के बारे में निति बनाने की याद आ गई, जबकि पिछले चार वर्ष तक सरकार सोई रही। सीएम वीरभद्र सिंह का यह आश्वासन सिर्फ चुनावों में वोट बटोरने के लिए ही है, इससे ज्यादा सरकार कुछ नहीं करेगी। यह शब्द बीजेपी पूर्व कर्मचारी कल्याण प्रकोष्ठ के संयोजक घनश्याम शर्मा ने बीजेपी पूर्व कर्मचारी प्रकोष्ठ मंडल धर्मशाला की बैठक को संबोधित करते हुए कहे। शर्मा ने प्रदेश सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि हर कार्य में घोटाले करना और जनता के साथ धोखा करना सरकार की कार्यप्रणाली बन चुकी है। शर्मा ने कहा कि विकास का नया अध्याय लिखने के दावे करती है, लेकिन हकीकत में प्रदेश कांग्रेस सरकार भ्रष्टाचार का नया अध्याय लिख रही है। सरकार की इस कार्यप्रणाली से प्रदेश का हर नागरिक घुटन महसूस कर रहा है। घनश्याम शर्मा ने कहा कि उन्होंने कर्मचारी कल्याण बोर्ड का जब जिम्मा संभाला था, उस समय प्रदेश के युवाओं को ध्यान में रखते हुए एक हाईपावर कमेटी बनाई थी। उस कमेटी की सिफारिशें इस सरकार ने लागू नहीं की और इसका खामियाजा आज हमारे प्रदेश के युवा भुगत रहे हैं। घनश्याम शर्मा ने कहा कि प्रदेश के सीएम झूठ बोलने में माहिर हैं और जनभावनाओं से खिलवाड़ करने की उनकी आदत बन चुकी है। घनश्याम शर्मा ने बैठक के उपरांत पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि बीजेपी पूर्व कर्मचारी कल्याण प्रकोष्ठ अब पूरी तरह से हरकत में आ गया है। वह स्वयं हर मंडल में जाकर इस तरह की बैठकों का आयोजन कर रहे हैं, ताकि पूर्व कर्मचारियों की समस्याएं समझ सकें और कांग्रेस सरकार की दमनकारी नीतियां लोगों को बता सकें। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने 2 फीसदी महंगाई भत्ता देकर कर्मचारियों के साथ भद्दा मजाक किया है।


  • प्रदेश जनता के साथ धोखा करना बन गई है प्रदेश सरकार की नीति
  • झूठ बोलने में माहिर हैं सीएम, जनभावनाओं से खिलवाड़ उनकी आदत

कर्मचारियों को 4_9_14 के लाभ वर्ष 2006 से देने की बात कांग्रेस ने अपने चुनावी घोषणापत्र में भी की थी, लेकिन सत्ता हाथ में आते ही सरकार इससे पीछे हट गई। बेरोजगारी भत्ते के नाम पर युवा वर्ग की भावनाओं के साथ खिलवाड़ किया गया। अब वह समय आ गया है कि जनता कांग्रेस सरकार को उसके किये झूठे वादों की सजा चुनावों में देगी। घनश्याम शर्मा ने एक सवाल के जवाब में कहा कि वह पार्टी के सिपाही हैं और पार्टी उन्हें जहां से भी आदेश देगी, वहीं से चुनाव भी लड़ेंगे। उन्होंने दावा किया कि वह जिला कांगड़ा में जहां से भी चुनाव लड़ेंगे वहीं से जीतकर भी दिखाएंगे।  बताते चलें कि 2014 के लोकसभा चुनावों में घनश्याम शर्मा ने कांगड़ा-चंबा संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ने की इच्छा जताई थी, मगर वरिष्ठ नेता शांता कुमार के पार्टी प्रत्याशी घोषित होने पर शर्मा खामोश हो गए थे। अब विधानसभा चुनावों में यह भी अपनी किस्मत आजमाना चाहते हैं और इसका निर्णय इन्होंने पार्टी पर छोड़ दिया है। इस बैठक को बीजेपी नेता एवं पूर्व मंत्री किशन कपूर ने भी संबोधित किया। कपूर ने अपने संबोधन में प्रदेश कांग्रेस सरकार पर जमकर निशाना साधा और कर्मचारियों और पूर्व कर्मचारियों को पेश आ रही समस्याओं को सत्ता में आते ही सुलझाने का दावा भी किया।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है