×

एसिडिटी है तो अजवायन व काला नमक लिया क्या ….

एसिडिटी है तो अजवायन व काला नमक लिया क्या ….

- Advertisement -

एसिडिटी की समस्या काफी आम हो गयी है। यह समस्या तब होती है जब पेट में मौजूद एसिड एसोफैगस तक आ जाता है। हमारा पाचन तंत्र हमारे खाने को पचाने के लिए पेट में एसिड बनाता है, जिस कारण हमारा पाचन तंत्र नियंत्रित रहता है। इस एसिड की मात्रा अगर सही रहे तो हमारा पेट स्वस्थ रहता है पर अगर इसकी मात्रा बढ़ जाये तो यह एसिडिटी (अम्लता) बन जाती है। वैसे तो यह एक आम समस्या है पर यह आपके सारे दिन को खराब कर देती है । एसिडिटी के लक्षणों,एसिडिटी की दवाई के बारे में हमें पता होना चाहिए। कुछ उपायों को अपनाकर इस परेशानी से छुटकारा पाया जा सकता है…


एक पैन में अजवायन सेंक कर इसका पाउडर बना लें। इसमें काला नमक मिलाएं। इसे खाने के बाद गुनगुने पानी के साथ लेने से पेट की गर्मी और एसिडिटी दूर होती है। अजवायन में मौजूद थायमॉल और काले नमक में अल्‍केलाइड्स होते हैं। इन दोनों को मिलाकर एसिडिटी दूर होती है।
-1 कप उबले हुए पानी में 1 चम्मच सौंफ मिलाएं। इसे पूरी रात ऐसे ही पड़े रहने दें। सुबह उठकर इसे छान लें। इसमें 1 चम्मच शहद मिलाएं और इसे पी लें। इस मिश्रण को दिन में 3 बार पीने से पेट की गर्मी और एसिडिटी की समस्या दूर हो जाएगी। इससे पेट का फूलना और गैस की समस्या भी दूर हो जाती है।
-अदरक का रस भी पेट की गर्मी और जलन ठीक करने में सहायक है। नींबू और शहद में अदरक का रस मिलाकर पीने से, पेट की जलन शांत होती है। इसके अलावा अदरक के रस में एंटीबैक्टीरियल गुण भी होते हैं इसलिए यह पेट में मौजूद हानिकारक बैक्टीरिया को मारता है।


ठंडा दूध पीने से बदहजमी के लक्षणों से आपको काफी आराम प्राप्त होगा। दूध कैल्शियम (calcium) से भरपूर होता है। यह आपके शरीर में एसिड बनने से रोकता है और पेट में बनने वाले अतिरिक्त एसिड को सोखने में मदद करता है। बिना चीनी डाले एक गिलास दूध पीने से बदहजमी से तुरंत राहत प्राप्त होती है। यह उपचार तब और भी ज़्यादा असरदार हो जाता है, अगर दूध में एक चम्मच घी का भी मिश्रण कर दिया जाए।
-जीरा आपके मुंह में थूक का उत्पादन करके आपके हाजमे में मदद करता है। यह शरीर के मेटाबोलिज्म (metabolism) में भी वृद्धि करता है और पेट की समस्याओं से निजात दिलाता है। आयुर्वेदिक विशेषज्ञों का यह मानना है कि जीरे में एक आराम प्रदान करने वाला गुण होता है, जो आपको सीने में जलन से निजात दिलाता है। थोड़े से पानी में एक चम्मच जीरा मिश्रित करके इसका सेवन करें।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है