Covid-19 Update

2,18,000
मामले (हिमाचल)
2,12,572
मरीज ठीक हुए
3,646
मौत
33,617,100
मामले (भारत)
231,605,504
मामले (दुनिया)

बारिश ने मचाईः कुल्लू में रेस्टोरेंट और मकान को पहुंचा नुकसान

प्रशासन ने मौके का किया दौरा, नुकसान का आकलन

बारिश ने मचाईः कुल्लू में रेस्टोरेंट और मकान को पहुंचा नुकसान

- Advertisement -

बंजार। हिमाचल (Himachal) में बरसात का मौसम शुरू होते ही तेज वर्षा से विभिन्न स्थानों पर नुकसान की खबरें हैं। जिला कुल्लू (Kullu) के बंजार मुख्यालय के विभिन्न स्थानों पर भी तेज वर्षा अपना विकराल रूप दिखाने लग गई है। जहां बंजार (Banjar) के साथ जौल और बिहाली में मंगलवार देर रात को तेज बारिश द्वारा सड़क के किनारे डंप मलबे ने गांव में तबाई मचाई। वहीं, अब प्रसिद्व पर्यटन जिभी के सर में बुधवार देर रात करीब तीन बजे तेज पानी के बहाव से एक रेस्टोरेंट (Restaurant) व घर को काफी नुकसान पहुंचा है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल में गिरा अधिकतम और न्यूनतम तापमान, कहां कितनी बारिश-जाने

मिली जानकारी के अनुसार जिभी के सर गांव में अचानक नदी द्वारा रुख बदलने के कारण पानी से रेस्टोरेंट व घर की निचली मंजिल में रखा सामान पानी की भेंट चढ़ गया। बुधवार देर रात करीब तीन बजे दो भाइयों हंस राज व झाबे राम पुत्र चुनी लाल का रेस्टोरेंट व घर की निचली मंजिल में रखा सामान टेबल, कुर्सी, वाशिंग मशीन, ड्रोन कैमरा व लैपटॉप आदि पानी के तेज बहाव में बह गए। आज दोपहर को बारिश (Rain) होने के कारण पानी का जलस्तर बढ़ने पर उक्त व्यक्तियों द्वारा मकान का सामान भी खाली कर दिया गया है।

गौरतलब है कि बारिश 2018 अगस्त में जिभी में बाढ़ के कारण हंस राज व झाबे राम के पिता चुन्नी लाल को भी अपने साथ बहा करले गया था, जिन का शव लगभग 19 दिनों के पश्चात टिहरी डैम में प्राप्त हुआ था। घर के साथ रेस्टोरेंट को भी काफी नुकसान पहुंचा था। उक्त दोनों भाइयों का कहना कि उस वक्त भी वन विभाग (Forest Department) द्वारा सुरक्षा दीवार लगाई गई थी, पर एक महीने में वह भी पानी की भेंट चढ़ गई था। अब उपरोक्त भाइयों का कहना कि प्रशासन द्वारा एलएनटी (LNT) लगाकर नदी के रुख को मोड़ा जाए, ताकि पानी का तेज बहाव दोबारा उन के घर की ओर ना मुड़े तथा नदी के साथ प्रशासन द्वारा सुरक्षा दीवार को भी लगवाया जाए। एसडीएम बंजार हेम चंद वर्मा का कहना है कि विभाग द्वारा मौका किया गया है। नुकसान का आकलन किया जा रहा है। नियमावली के अनुसार नुकसान का आकलन कर मुआवजा दिया जाएगा।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Subscribe करें हिमाचल अभी अभी का Telegram Channel…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है