Covid-19 Update

56,943
मामले (हिमाचल)
55,280
मरीज ठीक हुए
954
मौत
10,566,720
मामले (भारत)
95,173,803
मामले (दुनिया)

#Avocado को लेकर स्टडी में खुलासा- स्किन के अलावा आंतों के लिए भी है बेहद लाभदायक

#Avocado को लेकर स्टडी में खुलासा- स्किन के अलावा आंतों के लिए भी  है बेहद लाभदायक

- Advertisement -

पोषक तत्वों से भरपूर एवोकाडो (Avocado) को लेकर एक स्टडी में दावा किया गया है कि ये आंतों के लिए बेहद लाभदायक है। एवोकाडो में फाइबर और मोनोअनसैचुरेटेड फैट(Fat) से भरपूर मात्रा में पाया जाता है और ये दोनों चीजें आंत के रोगाणुओं पर अपना असर डालती हैं। अमेरिका के यूनिवर्सिटी ऑफ इलिनोइस कॉलेज ऑफ एग्रीकल्चर, उपभोक्ता और पर्यावरण विज्ञान की स्टडी में ये खुलासा किया गया है। स्टडी के मुख्य लेखक शेरोन थॉम्पसन का कहना है कि जैसा कि हम सब जानते हैं कि एवोकाडो खाने से पेट भर जाता है और खून में कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) की मात्रा कम होती है, लेकिन हमें ये नहीं पता था कि ये आंत के सूक्ष्मजीवों को किस तरह से प्रभावित करता है।

स्टडी में सामने आया है कि जो लोग भोजन के रूप में हर दिन एवोकाडो खाते हैं, उनमें आंत के सूक्ष्मजीवों की संख्या बहुत ज्यादा होती है। ये सूक्ष्मजीव फाइबर(Fiber) को बारीक टुकड़े कर मेटाबॉलिज्म को बढ़ातें हैं, जिससे आंत स्वस्थ रहता है। स्टडी में पाया गया कि एवोकाडो नहीं खाने वालों की तुलना में खाने वाले लोगों के शरीर में कई तरह के सूक्ष्मजीव पाए जाते हैं जो बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करते हैं। थॉम्पसन ने कहना है कि एवोकाडो के सेवन से पित्त एसिड कम होता है और शॉर्ट-चेन फैटी एसिड बढ़ जाता है।

शोधकर्ताओं ने 45 से 25 साल के सेहतमंद लोगों पर ये स्टडी की थी। इन लोगों को ब्रेकफास्ट, लंच या डिनर में हर दिन किसी एक समय एवोकाडो खाना होता था, इनमें से एक समूह को कुछ दिन तक खाने में एवोकाडो भी दिया गया जबकि दूसरे समूह को वही डाइट बिना एवोकाडो के दी जाती थी। स्टडी में शामिल प्रतिभागियों ने 12 सप्ताह की स्टडी के दौरान अपने खून, यूरीन और मल के सैंपल दिए। उन्होंने यह भी बताया कि दिए गए खाने में से उन्होंने कितना खाया। हर चार सप्ताह में उन्होंने इसकी जानकारी दी। इससे पहले एवोकाडो पर हुए सारे शोध वेटलॉस(Weight Loss) पर आधारित होते थे, लेकिन इस स्टडी में प्रतिभागियों की डाइट में किसी तरह का बदलाव नहीं किया गया था।

शोधकर्ताओं ने पाया कि एवोकाडो न खाने वालों की तुलना में इसे खाने वालों के शरीर में कैलोरी की मात्रा थोड़ी ज्यादा है। स्टडी पाचनतंत्र के सूक्ष्मजीवों पर एवोकाडो का प्रभाव जानने के उद्देश्य से की गई थी। स्टडी की वरिष्ठ लेखक होल्शर ने पाया कि एवोकाडो खाने वाले समूह के मल में पित्त एसिड(Acid) कम और फैट ज्यादा पाया गया।

इस स्टडी के अनुसार अलग-अलग तरह के फैट माइक्रोबायोम पर अलग-अलग प्रभाव डालते हैं। एवोकाडो में पाया जाने वाला फैट मोनोअनसैचुरेटेड होता है, जो दिल को स्वस्थ(Health) रखता है। स्टडी के अनुसार एक मध्यम आकार के एवोकाडो में लगभग 12 ग्राम फाइबर होता है जो प्रति दिन की जरूरी मात्रा को पूरा करता है। ऐसे में शोधकर्ताओं का दावा है कि एवोकाडो आंतों के लिए बहुत लाभदायक है।

 

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है