Covid-19 Update

1,32,763
मामले (हिमाचल)
99,188
मरीज ठीक हुए
1906
मौत
22,662,575
मामले (भारत)
159,067,118
मामले (दुनिया)
×

आयकर छापे: चुनाव आयोग से मिले राजस्व सचिव, कमलनाथ ने बताया राजनीतिक साजिश

आयकर छापे: चुनाव आयोग से मिले राजस्व सचिव, कमलनाथ ने बताया राजनीतिक साजिश

- Advertisement -

भोपाल। मध्यप्रदेश के सीएम कमलनाथ (Kamalnath) के करीबियों पर आयकर के छापे के बाद सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्स (CBDT) के चेयरमैन और राजस्व सचिव ने मंगलवार को चुनाव आयोग (EC) से मुलाकात कर कार्रवाई की जानकारी दी। इस बीच, कमलनाथ ने इसे राजनीतिक साजिश बताते हुए कहा कि राजनीतिक दृष्टि से जो करने का प्रयास किया जा रहा है, उसमें कोई सफल होने वाला नहीं है। दूसरी ओर, सीएम के पूर्व ओएसडी प्रवीण कक्कड़ (Pravin Kakkad) ने इनकम टैक्स के छापों के खिलाफ मध्यप्रदेश हाईकोर्ट में याचिका दायर की है।


यह भी पढ़ें: करीबियों पर छापेमारी के बाद सामने आए कमलनाथ, कह दी ये बड़ी बात

वन्य जीवों की मिली खालें

मंगलवार को ही कमलनाथ के निजी सचिव रहे प्रवीण कक्कड़ के सहायक अश्विन शर्मा (Aswin Sharma) के घर वन विभाग की टीम पहुंची। अश्विन शर्मा के घर से बाघ, काला हिरण, तेंदुए, सांभर, चीतल के अवशेषों सहित बड़ी संख्या में सजावटी सामान (ट्रॉफियां) बरामद हुए हैं। अब अश्विन पर वन्यजीव संरक्षण कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी। कमलनाथ ने इस पूरे मामले को राजनीतिक साजिश बताते हुए कहा कि राजनीतिक दृष्टि से जो करने का प्रयास किया जा रहा है, उसमें कोई सफल होने वाला नहीं है।

यह भी पढ़ें: कमलनाथ के हाथ पर वार: CRPF और MP पुलिस में भिड़ंत, SSP को रोका

इनकम टैक्स को कुछ नहीं मिला

कक्कड़ के घर से आयकर (Income Tax) की टीम को कुछ खास मिला नहीं है। बैंक लॉकर में 48 लाख और घर से 30 लाख की ज्वेलरी मिली है, जिसके बारे में कक्कड़ के सीए का कहना है कि सारी ज्वेलरी रिटर्न में शो की गई है। कक्कड़ के अनुसार, रात 3.30 बजे के लगभग टीम मेरे घर का दरवाजा तोड़ कर अंदर दाखिल हुई थी। 2 दिन तक छानबीन के बाद भी उन्हें जब्त करने लायक कुछ नहीं मिला। घर-ऑफिस और दोनों बैंक लॉकर भी चेक किए, लेकिन गोल्ड-कैश और कोई भी आपत्तिजनक चीज नहीं मिली। उन्होंने टीम द्वारा किसी भी प्रकार से टॉर्चर नहीं करने की बात कही। सीबीडीटी ने जो प्रेस रिलीज जारी की है उसके बारे में मुझे जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा कि हवाला (Hawala) और राजनीतिक फंडिंग (Political Funding) से मेरा कोई लेना-देना नहीं है।

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है