Covid-19 Update

58,457
मामले (हिमाचल)
57,233
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,045,587
मामले (भारत)
112,852,706
मामले (दुनिया)

अगर आप भी करते हैं दांतों को रगड़-रगड़ कर ब्रश तो ये खबर जरूर पढ़े

सॉफ्ट ब्रिसल्स वाले टूथब्रश का इस्तेमाल करना चाहिए

अगर आप भी करते हैं  दांतों को रगड़-रगड़ कर ब्रश तो ये खबर जरूर पढ़े

- Advertisement -

मुंह की स्वच्छता यानी ओरल हेल्थ ( Oral Health)हमारी दिनचर्या का एक हिस्सा है। अगर मुंह की सफाई सही ढंग से न की जाए तो आप कई बीमारियों के शिकार हो सकते हैं।स्वस्थ रहने के लिए मुंह की नियमित तौर पर सफाई बहुत जरूरी है। हममें से बहुत सारे लोग ऐसे हैं जो रगड़-रगड़ कर ब्रश करते हैं ताकि दांत साफ और चमकते रहें। लेकिन ऐसा करना सही नहीं है। अगर सही तरीके से ब्रश किया जाए तो दांतों में प्लाक की समस्या नहीं होती। कैविटी होने से रोका जा सकता है। मसूड़ों से जुड़ी बीमारियों का खतरा कम होता है और साथ ही ओरल कैंसर ( Oral cancer) का जोखिम भी नहीं रहता। कुछ ऐसी गलतियां है जिनको हम रोज दांत साफ करते हुए दोहराते हैं। आखिर क्या हैं वो गलतियां हम आप को बताते हैं।

यह भी पढ़ें: दांतों की तरह जीभ की भी सफाई करना होता है जरूरी, मिलता है कई बीमारियों से छुटकारा

अमेरिकन डेंटल एसोसिसएशन की मानें तो हर व्यक्ति को रोजाना दिन में 2 बार ब्रश करना चाहिए और हर बार 2 मिनट से ज्यादा दांतों को साफ नहीं करना चाहिए। अगर आप 2 मिनट से कम समय लेते हैं तो दांतों में जमा प्लाक को हटा नहीं पाएंगे। एक स्टडी की मानें तो ज्यादातर लोग ब्रश करने में सिर्फ 45 सेकंड का समय लेते हैं। बहुत से लोग ऐसे भी हैं जिन्हें ब्रश करने में बहुत अधिक समय लगता है क्योंकि वे लंबे समय तक दांतों को रगड़ते रहते हैं. ऐसा करने से दांतों का इनैमल (Enamel) खराब हो जाता है।

टूथब्रश की बात करें तो दांतों को साफ करने के लिए आपको सॉफ्ट ब्रिसल्स ( Soft bristles) वाले टूथब्रश का इस्तेमाल करना चाहिए। बहुत हार्ड ब्रिसल्स वाले ब्रश की वजह से न सिर्फ दांतों का इनैमल क्षतिग्रस्त हो जाता है बल्कि मसूड़ों से जुड़ी दिक्कतें भी हो सकती हैं। अगर ब्रश के ब्रिसल्स खराब होने लगें तो उन्हें तुरंत रिप्लेस कर देना चाहिए।

यूतो बाजार में एक से बढ़कर एकटूथपेस्ट हैं पर आपको ऐसा टूथपेस्ट इस्तेमाल करना चाहिए जिसमें फ्लोराइड की सही मात्रा हो। वयस्कों के टूथपेस्ट में 1350 पीपीएम फ्लोराइड होना चाहिए तो वहीं 6 साल से कम उम्र के बच्चे के टूथपेस्ट में 1000 पीपीएम फ्लोराइड होना चाहिए। 3 से 6 साल के बच्चों को मटर के दाने के बराबर टूथपेस्ट का ही इस्तेमाल करना चाहिए।

कुछ डेंटिस्ट हर बार कुछ खाने के बाद ब्रश करने की सलाह देते हैं। लेकिन दिन में 2 बार एक बार सुबह और एक बार सोने से पहले दांतों को साफ करना बेहद जरूरी है। इसके अलावा किसी तरह के एसिडिक फूड या ड्रिंक का सेवन करने के तुरंत बाद ब्रश न करें क्योंकि एसिड की वजह से दांत के इनैमल कमजोर हो जाते हैं और ब्रश करने पर हट जाते हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है