Covid-19 Update

58,457
मामले (हिमाचल)
57,233
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,045,587
मामले (भारत)
112,852,706
मामले (दुनिया)

शहादत का मजाकः 14 साल बाद भी नहीं नहीं बनी शहीद Jagmohan संपर्क सड़क

शहादत का मजाकः 14 साल बाद भी नहीं नहीं बनी शहीद Jagmohan संपर्क सड़क

- Advertisement -

जोगिंद्रनगर। देश की आन, बान व शान के लिए जब भी कोई सैनिक दुश्मन से लोहा लेते हुए शहादत पाता है तो जहां परिवार का सब कुठ लुट जाता है, वहीं सियासत की रोटियां सेंकने वाले कतई पीछे नहीं रहते। जल्दबाजी में कई तरह की घोषणाएं करके शहीद के परिवार पर मानो एहसान करते हैं। ऐसी अनेकों घोषणाएं अकसर होती रही है। बहरहाल, उपमंडल के कुठेहड़ा पंचायत के लोअर बसाही गांव के शहीद जगमोहन ठाकुर के गांव को चक्का से जोड़ने वाली कुल 1100 मीटर सड़क पिछले 14 साल से नहीं बन पाई है, लिहाजा लोग सरकारी घोषणा से बेहद खफा हैं।

फरवरी 2004 में जम्मू-कश्मीर के बांदीपोरा में हिमाचल के तीन जवानों ने 9 आतंकवादियों से लोहा लेते हुए शहादत पाई थी, जिनमें लोअर बसाही का 24 वर्षीय अविवाहित युवा सैनिक जगमोहन ठाकुर भी देश पर कुर्बान हुआ था। जैक राइफल के इस शहीद की शहादत पर इलाका का बच्चा-बच्चा रोया, वहीं गौरवान्वित भी कम नहीं था। उस समय की सरकार ने चक्का से लोअर बसाही तक 1100 मीटर सड़क बनाने व उसे शहीद जगमोहन संपर्क सड़क रखने का ऐलान करके शहीद के परिजनों को सांत्वना दी थी, मगर आश्चर्य ही नहीं दुख भी है कि 14 साल बीतने के बावजूद वह सड़क अभी तक पूरी नहीं बनी। गांव के रास्ते भी आजकल इससे कहीं अच्छे माने जाते हैं। शहीद के नाम पर रोटियां सेंकने वालों का दिल इस पर कभी नहीं पसीजा। अपने माता-पिता के इकलौते बेटे जगमोहन की शहादत पर ऐसे रवैये से गांव के हजारों लोग खुद को ठगा सा महसूस कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें…500 करोड़ रुपये का कर्ज लेगी Jai Ram सरकार, RBI के माध्यम से किया आवेदन

शहीद के परिजनों में गुस्सा

शहीद जगमोहन के परिवार के करीबी राजेंद्र ठाकुर का आरोप है कि शहीदों के नाम पर ऐसा रवैया कतई अच्छा नहीं क्योंकि शायद भावना में बहकर किया गया ऐलान इसीलिए आज तक सिरे नहीं चढ़ सका। शहीद की मां संती देवी व अन्य परिजनों का कहना है कि उन्होंने सड़क का मामला कई बार उठाया, लेकिन कहीं पर भी इसकी सुनवाई नहीं हुई। राजेंद्र ठाकुर व संती देवी का कहना कि जहां तक सड़क 300 मीटर बनी है वहां से शहीद का घर महज 50 मीटर से भी कम रह जाता है। संती देवी का कहना है कि चक्का से शहीद के घर के पास तक जितना भी रोड बनाया गया, वह अत्यंत खस्ताहालत में है और दिखावे के लिए चक्का में लगाया गया शहीद जगमोहन संपर्क मार्ग का बोर्ड देखकर ही उन्हें शर्मिंदगी होती है।

क्या कहता है लोक निर्माण विभाग

जोगिंद्रनगर में लोक निर्माण विभाग के सहायक अभियंता बलबीर ठाकुर ने बताया कि चक्का की ओर से 300 मीटर से अधिक तथा बसाही की ओर से 500 मीटर सड़क का निर्माण पूरा किया जा चुका है और अभी तक यह सारा कच्चा है। उन्होंने कहा कि बीच में लोगों की जमीन आती है और वह उसे नहीं देते, जिस कारण बीच का हिस्सा नहीं बन पाया। विधायक प्रकाश राणा ने कहा मामला उनके ध्यान में नहीं है। अगर सरकार या विभाग की ओर से कोई अड़चन होगी तो उसे वह शीघ्र दूर करवाएंगे तथा शहीद जगमोहन संपर्क मार्ग को पक्का करवाया जाएगा।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है