Covid-19 Update

2,06,832
मामले (हिमाचल)
2,01,773
मरीज ठीक हुए
3,511
मौत
31,810,782
मामले (भारत)
201,005,476
मामले (दुनिया)
×

पहल : जर्जर पुलों का होगा Road Safety Audit

पहल : जर्जर पुलों का होगा Road Safety Audit

- Advertisement -

Road Safety Audit : लोनिवि ने तैयार की योजना, कांगड़ा-चंबा के पुलों की होगी जांच

Road Safety Audit : धर्मशाला। लोक निर्माण विभाग ने जिला कांगड़ा व चंबा के जर्जर पुलों का रोड सेफ्टी ऑडिट करवाने की तैयारी शुरू कर दी है। विभाग की योजना के तहत अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस वाहन द्वारा जर्जर पुलों की जांच की जाएगी। इसके लिए बाकायदा एक्सपर्ट बुलाए जाएंगे तथा अत्याधुनिक वाहन से पुल की जांच रिपोर्ट के आधार पर इन पुलों के लिए आगामी कार्य की रूपरेखा तैयार की जाएगी।यही नहीं कुछ जर्जर हुए पुलों के स्थान पर विभाग ने नए पुलों के निर्माण की प्रक्रिया आरंभ भी कर दी है। 

अवैध खनन के कारण खोखली होती है पुलों की नींव

गौरतलब है कि बरसात के मौसम में कई पुल पानी के तेज बहाव को न सहते हुए टूट गए हैं। वहीं कई ऐसे पुल भी हैं, जिनके आसपास अवैध खनन हो रहा है, जिसकी वजह से पुलों की नींव को खासा नुकसान पहुंचा। लोक निर्माण विभाग के अनुसार सड़कें व पुल लाइफलाइन होते हैं, लेकिन बरसात और अवैध खनन के कारण पुलों की नींव खोखली हो जाती हैं तथा नुकसान पहुंचता है। इन सभी पहलूओं को ध्यान में रखते हुए प्रदेश लोक निर्माण विभाग ने सड़कों पर बने पुराने पुलों की वर्तमान स्थिति के आकलन के लिए रणनीति के तहत कार्य करने का निर्णय लिया है, जिसके तहत पुलों सरकार से रोड सेफ्टी ऑडिट करवाने को स्वीकृति मांगी गई है।


नींव से लेकर पुल तक होगी जांच

रोड सेफ्टी ऑडिट के तहत विशेषज्ञ तैनात किए जाएंगे। विशेषज्ञों द्वारा अत्याधुनिक उपकरणों के माध्यम से प्रदेश के पुलों का निरीक्षण किया जाएगा। अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त वाहन को पुलों के नीचे से निकाल कर नींव से लेकर पुल की पूरी स्थिति जांची जाएगी। उपकरणों के जरिए पुलों की स्थिति के बारे मिलने वाली जानकारी के तहत ही विशेषज्ञ अपनी रिपोर्ट तैयार करेंगे। इस रिपोर्ट को विभाग को सौंपा जाएगा। इसी रिपोर्ट के आधार पर अपनी समयावधि पूरी कर चुके पुलों को तोड़कर नए पुलों का निर्माण किया जाएगा।

लोक निर्माण विभाग धर्मशाला जोन के मुख्य अभियंता एसके गंजू का इस बारे में कहना है कि सरकार को रोड सेफ्टी ऑडिट बारे लिखा गया है। स्वीकृति मिलते ही पुलों की वर्तमान स्थिति को विशेषज्ञों द्वारा अत्याधुनिक उपकरणों के माध्यम से जांचा जाएगा। वर्तमान में भी विभाग द्वारा नए पुलों का निर्माण करने सहित जर्जर पुलों की मरम्मत का कार्य किया जा रहा है।

लाहुल-स्पीति में सड़क-स्वास्थ्य सुविधाएं बेहाल, Students ने निकाली विरोध रैली

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है