Covid-19 Update

2,05,061
मामले (हिमाचल)
2,00,704
मरीज ठीक हुए
3,498
मौत
31,396,300
मामले (भारत)
194,663,924
मामले (दुनिया)
×

खुशखबरी। जल्द मिलेगा द्रंग का चट्टानी नमक

खुशखबरी। जल्द मिलेगा द्रंग का चट्टानी नमक

- Advertisement -

Rock Salt: मंडी। द्रंग के चट्टानी नमक का इंतजार अब जल्द ही खत्म होने वाला है। यह नमक बरसात से पहले ही मिलना शुरू हो जाएगा। द्रंग की नमक खान में 15 मीटर और खुदाई के बाद नमक निकलने का सिलसिला शुरू होने वाला है। बता दें कि ये खानें लंबे समय से बंद पडी थीं। केंद्र और राज्य सरकारों के प्रयासों से बंद पड़ी खानों को फिर से शुरू किया गया है। जिसके चलते अब यहां फिर से चट्टानी नमक निकलने का कार्य शुरू हो पाया है।

खान में 15 मीटर और खुदाई के बाद शुरू होगा नमक निकलना

माजूदा समय में जहां पर नमक निकालने के लिए खुदाई हो रही है वहां पर 15 मीटर तक खुदाई हो चुकी है। हिन्दुस्तान साल्ट लिमिटेड के सीएमडी एसपी बंसल की मानें तो मात्र 15 मीटर और खुदाई के बाद नमक निकलने का सिलसिला शुरू हो जाएगा। उन्होंने बताया कि सबसे पहले निकलने वाले नमक की सप्लाई प्रदेश के पशुपालकों को की जाएगीए ताकि वह पशुओं को इस नमक का सेवन करवा सकें। उन्होंने उम्मीद जताई कि बरसात से पहले नमक निकालने का प्रोसेस शुरू हो जाएगा ताकि बरसात में कोई परेशानी न झेलनी पड़े।


नमक निकालने के Project पर 300 करोड़ की राशि खर्च

गुम्मा और द्रंग में नमक निकालने का प्रोसेस दो चरणों में पूरा किया जाना है। पहले चरण का कार्य शुरू हो चुका है जबकि दूसरे चरण में साल्युशन माइनिंग का कार्य शुरू होना है। साल्युशन माइनिंग के लिए दो बैठकों का आयोजन हो चुका है जबकि तीसरी बैठक आने वाले समय में होनी है जिसके बाद उस जमीन का चयन किया जाएगा जहां पर यह कार्य शुरू होना है। बता दें कि भारत सरकार नमक निकालने के प्रोजेक्ट पर 300 करोड़ की राशि को खर्च कर रही है और इसके दूसरे चरण का कार्य शुरू होने पर करीब दो हजार लोगों को रोजगार का अवसर भी मिलने जा रहा है। सांसद राम स्वरूप शर्मा की मानें तो सबसे पहले नमक निकलने का इंतजार किया जा रहा है और नमक निकलते ही आगे के कार्यों की शुरूआत कर दी जाएगी। 

बता दें कि मंडी जिला के गुम्मा और द्रंग में चट्टानी नमक की खानें प्राकृतिक हैं और वर्षों से प्रदेश के लोग यहां के नमक का इस्तेमाल करते आ रहे थे। लेकिन बीते कुछ वर्षों से यहां से नमक निकालने का कार्य बंद हो गया था जिसके चलते अब विदेशों से चट्टानी नमक को आयात करना पड़ रहा है। अब जब खानों में दोबारा से काम शुरू हुआ है तो बरसात से पहले नमक निकलने की आस भी जग गई है।

पानी पीते गाय को लगा करंट, Death

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है