Covid-19 Update

2,06,832
मामले (हिमाचल)
2,01,773
मरीज ठीक हुए
3,511
मौत
31,810,782
मामले (भारत)
201,005,476
मामले (दुनिया)
×

उपलब्धिः एनक्यूएस प्रमाणीकृत हुआ कुल्लू अस्पताल, हिमाचल का पहला हॉस्पिटल बना

उपलब्धिः एनक्यूएस प्रमाणीकृत हुआ कुल्लू अस्पताल, हिमाचल का पहला हॉस्पिटल बना

- Advertisement -

कुल्लू। क्षेत्रीय अस्पताल कुल्लू अनेक सुविधाओं और सराहनीय सेवाओं के लिए जाना जाता है। हाल ही में अस्पताल को राष्ट्रीय स्तर पर राष्ट्रीय गुणवत्ता मानक (एनक्यूएस) प्रमाणीकृत किया गया है और इस उपलब्धि को हासिल करने वाला यह प्रदेश का एकमात्र अस्पताल है। यह खुलासा गुरुवार को अस्पताल सभागार में आयोजित रोगी कल्याण शासकीय निकाय की वार्षिक बैठक में किया गया। बैठक की अध्यक्षता उपायुक्त एवं गवर्निंग बॉडी की चेयरपर्सन डॉ. ऋचा वर्मा ने की। बंजार के विधायक सुरेन्द्र शौरी तथा कुल्लू के विधायक सुंदर सिंह ठाकुर भी बैठक में मौजूद रहे।

 



हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें… 

डॉ. ऋचा वर्मा ने कहा कि रोगी कल्याण समिति स्वास्थ्य सेवाओं का एक महत्वपूर्ण अंग है, जिसमें मरीजों को बेहतर चिकित्सा सुविधाओं का सृजन किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि अस्पतालों में चिकित्सकों का मरीजों के प्रति अच्छा व्यवहार होना और मरीजों को एक बेहतर वातावरण प्रदान किया जाना जरूरी है। उन्होंने विशेषकर ठोस कचरे के उपयुक्त निष्पादन की आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि इसके निष्पादन के लिए अस्पताल का अपना एक छोटा संयंत्र स्थापित करने के प्रयास किए जाने चाहिए। इससे परिवहन खर्चा भी बचेगा। उन्होंने कार सेवा, ब्लड बैंक सोसायटी तथा अन्नपूर्णा संस्था द्वारा अस्पताल में प्रदान की जा रही सेवाओं व सहायता के लिए इनकी सराहना की।

 


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

बैठक में जानकारी दी गई कि सीएम ने आयुष्मान भारत तथा हिमकेयर व सहारा जैसी महत्वाकांक्षी स्वास्थ्य योजनाओं के क्रियान्वयन में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए अस्पताल को प्रथम पुरस्कार प्रदान किया है। अस्पताल में पर्ची के लिए टोकन प्रणाली को अपनाया गया है जिसके तहत प्रातः 8.30 बजे से पर्ची बनाने का कार्य किया जाता है और मरीज को टोकन उपलब्ध करवाकर 9.30 पर चिकित्सक के पास भेजा जाता है। इसके अलावा, वृद्धजनों, विशेष रूप से सक्षम व्यक्तियों व गर्भवती महिलाओं के लिए अलग से काउंटर हैं जहां लाईन में नहीं लगना पड़ता। अस्पताल में 56 प्रकार के टैस्ट निःशुल्क किए जा रहे हैं और इस पर गत वर्ष 17 लाख रुपये खर्च किए गए हैं।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि अस्पताल में वर्तमान में 16 विशेषज्ञ अपनी सेवाएं दे रहे हैं और लगभग सभी विभागों में विशेषज्ञ उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा हालांकि अस्पताल से दो चिकित्सक उच्च शिक्षा के लिए गए हैं और चिकित्सा अधीक्षक की संयुक्त निदेशक के पद पर पदोन्नति हुई है। तबादला किसी का भी नहीं हुआ है और चिकित्सा सेवाएं पूर्व की तरह संतोषजनक प्रदान की जा रही हैं।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है