Covid-19 Update

58,645
मामले (हिमाचल)
57,332
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,112,241
मामले (भारत)
114,689,260
मामले (दुनिया)

Rohtak Apna Ghar यौन शोषण मामलाः Special CBI Court ने संचालिका समेत 9 को सुनाई सजा

Rohtak Apna Ghar यौन शोषण मामलाः Special CBI Court ने संचालिका समेत 9 को सुनाई सजा

- Advertisement -

चंडीगढ़। Rohtak के बहुचर्चित अपना घर( Apna Ghar) में यौन शोषण मामले में 6 साल बाद संचालिका जसवंती देवी समेत नौ आरोपियों को सजा सुनाई गई है। पंचकूला स्थित हरियाणा की Special CBI Court ने शुक्रवार को Apna Ghar में यौन शोषण मामले में अनाथालय की संचालिका जसवंती देवी, ड्राइवर सतीश और दामाद जय भगवान को उम्रकैद की सजा सुनाई है। जसवंती के भाई जसवंत को 7 साल की सजा व 5 अन्य दोषी जसवंती की बेटी सुषमा उर्फ सिमी, चचेरी बहन शीला, सहेली रोशनी, कर्मचारी रामप्रकाश सैनी, काउंसलर वीना की सजा अंडरगोन कर दी गई है। इस मामले में 18 अप्रैल को सभी को Court ने दोषी करार दिया था।

क्या था  Apna Ghar का मामला

 जाहिर है कि रोहतक स्थित अनाथालय Apna Ghar में 08 मई 2012 को राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग की टीम ने छापामारी की थी। इस कार्रवाई के दौरान Apna Ghar से तीन लड़कियों के लापता होने की जानकारी टीम को मिली। बाद में तीनों लड़कियां दिल्ली से बरामद हुईं। अपना घर में हुई छापेमारी के दौरान आरोपियों की मिलीभगत से अनाथालय Apna Ghar  में रहने वाली लड़कियों को देह व्यापार में धकेलने, उनके यौन शोषण, मारपीट और मानव तस्करी का खुलासा हुआ था। इसके बाद पुलिस ने Apna Ghar की संचालिका जसवंती देवी सहित 10 आरोपियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था। जिनमें संचालिका जसवंती देवी के अलावा  भाई जसवंत, बहन शीला, काउंसलर वीणा, ड्राइवर सतीश,  कर्मी राम प्रकाश सैनी, जयभगवान,  सिम्मी, रोशनी, अंगरेज कौर हुड्डा शामिल थे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है