Covid-19 Update

58,879
मामले (हिमाचल)
57,406
मरीज ठीक हुए
983
मौत
11,156,748
मामले (भारत)
115,765,405
मामले (दुनिया)

राहतः रविवार को एक दिन के लिए खोला रोहतांग दर्रा

राहतः रविवार को एक दिन के लिए खोला रोहतांग दर्रा

- Advertisement -

लाहौल के लोगों ने दर्रे के बंद हो जाने पर जताया था विरोध, प्रशासन ने दी राहत

मनाली। लोगों की समस्याओं और परेशानियों को देखते हुए कुल्लू प्रशासन ने रविवार को एक दिन के लिए रोहतांग दर्रा वाहनों की आवाजाही के लिए खोल दिया  एसडीएम केलांग कुलवीर राणा ने खबर की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि मौसम और लोगों के समस्याओं को देखते हुए दर्रे से आज यानि रविवार को वाहन आर पार जा सकेंगे। उन्होंने दर्रे के आरपार जाने वाले लोगों से आग्रह किया कि वे रविवार को दर्रा पार कर अपने गंतव्य में पहुंच जाए। गौर रहे कि रोहतांग दर्रा बंद होने से लाहौल के लोगों में भारी रोष था। उनका कहना है कि राशन-पानी और जरूरत का सामान खरीदने सैकड़ों लोग कुल्लू और मनाली में रुके हुए हैं, लेकिन लाहौल स्पीति प्रशासन द्वारा रोहतांग दर्रे को बंद करने से दिक्कतें बढ़ गई हैं। बर्फबारी और फिर रोहतांग दर्रा बंद होने तक लोग वाहनों में दर्रे को आरपार करते रहे हैं तथा बंद होने पर पैदल भी दर्रा पार करते आए हैं, लेकिन इस बार नवंबर में ही दर्रे के बंद हो जाने से लोगों की परेशानी बढ़ गई हैं। बीआरओ ने रोहतांग दर्रे को बहाल कर दिया था, जिसके बाद मात्र 3 दिन तक ही वाहनों कि आवाजाही रही। तीसरे दिन शाम को प्रशासन ने दर्रा बंद कर दिया था।

बीआरओ लोगों की यथासंभव मदद करेगा

मनाली में रुके लाहौल निवासी टशी, विक्रम ओर लाल चन्द ने कहा कि अभी काफी लोग कुल्लू-मनाली में रुके हुए हैं, जिन्होंने लाहौल लौटना है। विधायक रवि ठाकुर ने कहा कि बीआरओ डॉयरेक्टर जनरल श्रीवास्तव ने लाहौल स्पीति के लोगों को भरोसा दिया है कि बीआरओ लोगों की यथासंभव मदद करेगा। लाहौल स्पीति के डीसी देवा सिंह नेगी ने कहा कि रोहतांग दर्रे में जोखिम को देखते हुए प्रशासन ने इसे बंद करने का निर्णय लिया था। उन्होंने बताया कि आपात स्थिति में दर्रा पार करने वाले लोग प्रशासन से अनुमति लेकर ही दर्रा आर-पार कर सकते हैं। पैदल राहगीरों के लिए दर्रा खुला है। इनकी मदद को कोकसर ओर मढ़ी में रेस्क्यू पोस्ट स्थापित की गई हैं, जो पैदल राहगीरों की हरसंभव मदद करेंगे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है