Covid-19 Update

2,00,603
मामले (हिमाचल)
1,94,739
मरीज ठीक हुए
3,432
मौत
29,944,783
मामले (भारत)
179,349,385
मामले (दुनिया)
×

मतदान वाले दिन सुबह 4 बजे यातायात के लिए बहाल हुआ रोहतांग दर्रा

मतदान वाले दिन सुबह 4 बजे यातायात के लिए बहाल हुआ रोहतांग दर्रा

- Advertisement -

कुल्लू। मतदान वाले दिन सुबह चार बजे जनजातीय जिला लाहुल-स्पीति का द्वार रोहतांग दर्रा ( Rohtang Pass) यातायात के लिए बहाल कर दिया गया। इसके बहाल होते ही लाहुल- स्पीति व चंबा जिला का पांगी क्षेत्र शेष विश्व से जुड़ गया। गौरतलब है कि रोहतांग दर्रा भारी बर्फबारी के कारण मध्य दिसंबर -2018 में यातायात ( Traffic) के लिए बंद हो गया था और जनजातीय जिलों का शेष विश्व से सड़क संपर्क पूरी तरह बंद हो गया था।

यह भी पढ़ें :-   राज्य चुनाव आयोग ने लाहुल-स्पीति के लिए सरकार से मांगे 3 हेलीकॉप्टर

 


डीसी यूनुस ने बताया कि बहरहाल अभी रोहतांग दर्रे से जनजातीय जिलों को जाने वाले छोटे वाहनों ( Small vehicles) को ही अनुमति प्रदान की गई है। इससे लाहुल-स्पीति तथा पांगी की ओर जाने वाले लोगों को बड़ी राहत मिली है। लोगों का लंबे समय से रूका आवागमन बहाल होने से निश्चित तौर पर उनमें खुशी और एक नई ऊर्जा उत्पन्न करेगा। उन्होंने कहा कि पार्किंग सहित अन्य सुविधाएं जुटाने तक पर्यटकों को अभी कुछ दिन इंतजार करना पड़ेगा।

यूनुस ने की बीआरओ की सराहना

यूनुस ने कहा कि सीमा सड़क संगठन ( BRO)ने मनाली-रोहतांग-केंलग-जिंगजिंगबार सड़क को खोलने में दिन-रात कड़ी मशक्कत की है, इसके लिए वह बधाई और प्रशंसा के पात्र हैं। माइनस 30 डिग्री तक के तापमान में समुद्र तल से 3500 से 4000 मीटर की ऊंचाई पर सड़क खोलने का कार्य करना निश्चित तौर पर चुनौतिपूर्ण है। यह चुनौती और भी मुश्किल हो जाती है, जब मौसम अनुकूल न हो। इस बार अभी तक रोहतांग दर्रे पर बर्फबारी हो रही है। राहनी नाला तथा रोहतांग पर 10 से 30 फीट तक बर्फ की परत के बीच से सड़क को बहाल किया गया है, यह सचमुच साहसिक एवं अद्वितीय प्रयास है।


यह भी पढ़ें :- लाहुल-स्पीति के साथ लगती जेएंडके की सीमा सील, अर्धसैनिक बल तैनात


वाहनों को जल्द देंगे रोहतांग जाने की अनुमति

डीसी ने कहा कि रोहतांग सैलानियों ( Tourists) के लिए पसंदीदा गंतव्य है। जिला में आने वाले लाखों सैलानी रोहतांग दर्रें के दीदार के बिना अपनी यात्रा को अधूरा समझते हैं। रोहतांग खुलते ही यहां सैलानियों का तांता सा लग जाता है। उन्होंने कहा कि रोहतांग पर पार्किंग की समुचित व्यवस्था तथा सड़क किनारे भी पार्किंग की व्यवस्था के तुरंत बाद पर्यटक वाहनों को अनुमति प्रदान कर दी जाएगी। उन्होंने कहा कि गत 5 मई को सैलानियों के लिए मढ़ी तक अनुमति प्रदान की गई थी। इससे पूर्व गुलाबा तक ही पर्यटक जा सकते थे। इन स्थलों की ओर प्रतिदिन 1300 वाहनों को जाने की अनुमति है।

मढ़ी व रोहतांग पर कूड़ा-कचरा नहीं होगा बर्दाश्त

डीसी ने एक बार फिर से सभी होटलियरों, टैक्सी चालकों, स्थानीय लोगों व सैलानियों से अपील की है कि मढ़ी, रोहतांग तथा अन्य पर्यटन स्थलों पर किसी प्रकार का कूड़ा-कचरा न फैलाएं। गंदगी फैलाने वालों से प्रशासन सख्ती से निपटेगा। इसके लिए एसडीएम मनाली अश्वनी कुमार को पहले ही आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं और वह लगातार ऐसी गतिविधियों पर कड़ी नजर रखे हुए हैं। उन्होंने कहा कि टैक्सी चालकों को निःशुल्क बैग उपलब्ध करवाए जा रहे हैं और उन्हें हिदायतें दी गई हैं कि वह सैलानियों से प्लास्टिक अथवा अन्य कचरा इनमें डलवाएं और वाहन में रखें और बाद में मनाली में इसका अन्य कूड़े की भांति निष्पादन करें। यूनुस ने कहा कि रोहतांग पर कचरे को लेकर एनजीटी भी काफी सख्त है और सभी लोग एनजीटी के नियमों की पालना करने में सहयोग करें।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है