×

बस 1 week और… शुरू होगा Dharamshala-मैक्लोडगंज रोपवे Project

बस 1 week और… शुरू होगा Dharamshala-मैक्लोडगंज रोपवे Project

- Advertisement -

Ropeway Project : धर्मशाला। पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण और प्रदेश सरकार के महत्वकांक्षी धर्मशाला मैक्लोडगंज रोपवे Project का काम एक सप्ताह में शुरू हो जाएगा। यूजर एजेंसी ने अब इस प्रोजेक्ट के लिए वांछित राशि जमा करवाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। राशि जमा करवाने के बाद निर्माण कंपनी इस रोपवे का निर्माण कार्य शुरु कर देगी। इस प्रोजेक्ट के लिए भारत सरकार की नीति के अनुरूप जिला प्रशासन ने 2 हेक्टेयर भूमि भी वन विभाग के नाम कर दी है। डीएफओ धर्मशाला प्रवीण ठाकुर ने बताया कि जिला प्रशासन ने खनियारा के पास 2 हेक्टेयर भूमि विभाग के नाम कर दी है। अब यूजर एजेंसी भी राशि जमा करवाने जा रही है। उन्होंने कहा कि अब इस प्रोजेक्ट के निर्माण में कोई बाधा नहीं है। राशि जमा होते ही काम शुरू किया जा सकेगा।


Ropeway Project : प्रोजेक्ट के लिए 2 हेक्टेयर भूमि वन विभाग के नाम

गौरतलब है कि धर्मशाला मैक्लोडगंज रोपवे के पहले चरण के लिएए भारत सरकार के पर्यावरण एवं वन मंत्रालय से सैद्धान्तिक रूप से मंजूरी मिल चुकी है। इस तरह के किसी भी प्रोजेक्ट के लिए मंत्रालय से यह मंजूरी रिकॉर्ड समय में हासिल हुई है। प्रोजेक्ट की रिपोर्ट के तहत अगले चरण की मंजूरी के लिए यूजर एजेंसी को अलग-अलग हेड्स के तहत कुल 43 लाख 49 हजार 493 रुपए जमा करवाने थे। इस रोपवे के निर्माण कार्य का जिम्मा टाटा इंफ्रास्ट्रक्चर को सौंपा गया है और अब टाटा द्वारा उक्त राशि जमा करवाने के बाद अगले चरण की प्रक्रिया शुरू होगी।

विभिन्न प्रजातियों के 995 पेड़ों में से काटेंगे 498 पेड़

इस प्रोजेक्ट के लिए 995 पेड़ वन भूमि से प्रोजेक्ट के लिए ट्रांसफर भूमि में मौजूद थे। पर्यावरण एवं वन मंत्रालय की रिपोर्ट में यह पाया गया है कि विभिन्न प्रजातियों के 995 पेड़ों में से इस रोपवे के लिए 498 पेड़ काटे जाएंगे। इन पेड़ों की कीमत 21 लाख 16 हजार 68 रुपए आंकी गई है और इनकी कुल कीमत पर 13.75 फीसद की दर से मूल्य वर्धित कर यानि वैट भी लगाया गया है। वैट की यह राशि 2 लाख 90 हजार 260 रुपए बनती है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि यूजर एजेंसी को विभिन्न हेड्स के तहर्त ई-पेमेंट मोड़ में 18 लाख 90 हजार 321 रुपए केंद्र सरकार के पास जमा करवाने होंगे जबकि प्रदेश सरकार के पास 24 लाख 59 हजार 172 रुपए जमा करवाने होंगे। इस तरह यूजर एजेंसी को कुल 43 लाख 49 हजार 493 रुपए जमा करवाने के बाद अगले चरण की मंजूरी मिलेगी। बताते चलें कि धर्मशाला मैक्लोडगंज रोपवे प्रोजेक्ट को एक साल में तैयार करने का लक्ष्य रखा गया है। इस रोपवे के बनने से धर्मशाला से मैक्लोडगंज की दूरी महज 5 मिनट रह जायेगी और अधिक से अधिक पर्यटक आसानी से मैक्लोडगंज पहुंच सकेंगे। वन विभाग के नाम भूमि हस्तांतरित करने और यूजर एजेंसी द्वारा राशि जमा करवाने की प्रक्रिया में ही करीब 3 माह का समय लग गया है लेकिन अब यह प्रोजेक्ट जल्दी ही शुरू होने की उम्मीद है।

भोरंज उपचुनावः अनिल धीमान ने भरा नामांकन

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है