Expand

पाकिस्तान में चुनाव से पहले सेना पर PML-N के सांसदों को धमकाने का आरोप 

Ruling party alleged army to threaten PML-N mp before election 

पाकिस्तान में चुनाव से पहले सेना पर PML-N के सांसदों को धमकाने का आरोप 

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में 25 जुलाई को होने वाले आम चुनाव में सेना का पूर्व क्रिकेटर और पाकिस्तान तहरीके इंसाफ पार्टी के नेता इमरान खान को पिछले दरवाजे से सपोर्ट चुनाव प्रक्रिया पर सवाल खड़े कर रहा है। सत्तारूढ़ पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N) के 4 सांसदों ने सेना पर दलबदल के लिए धमकी देने तक का आरोप लगाया है। 
PML-N के 4 सांसदों ने बताया कि उन पर दबाव है और धमकियां मिल रही हैं कि वह अपनी विरोधी पार्टियों के खेमे में चले जाएं। PML-N के मंत्री रहे दानियाल अजीज ने कहा, ‘यह सब पीछे के रास्ते, छिपकर और रेडार से नीचे हो रहा है।’ PML-N को सबसे बड़ी चुनौती पाकिस्तान-तहरीक-ए-इंसाफ (पाकिस्तान तहरीके इंसाफ पार्टी) के नेता इमरान खान से मिल रही है, जो भ्रष्टाचार को बड़ा मुद्दा बना रहे हैं। खान ने इस बात से इनकार किया है कि सेना के जनरलों ने पाकिस्तान तहरीके इंसाफ पार्टी को सपॉर्ट किया। उन्होंने कहा कि ऐसे आरोप लगाकर शरीफ जवाबदेही से बचना चाहते हैं। हालांकि विश्लेषकों और पश्चिमी राजनयिकों का कहना है कि चुनावों से पहले सेना PML-N पर दबाव बना रही है।

आर्थिक अस्थिरता के बीच एक और संकट

हालांकि पाक आर्मी साफ तौर पर राजनीति में हस्तक्षेप से इनकार करती रही है। ऐसे आरोपों पर पूछे गए सवालों का सेना ने जवाब नहीं दिया है। 20.8 करोड़ की आबादी वाले परमाणु संपन्न पाकिस्तान में यह राजनीतिक तनाव ऐसे समय में बढ़ रहा है जब देश आर्थिक अस्थिरता की तरफ बढ़ता दिख रहा है। इस्लामाबाद का मुद्रा भंडार तेजी से गिर रहा है और उसका चालू वित्तीय घाटा बढ़ने से विश्लेषकों को लगने लगा है कि अगली सरकार को दूसरी बार IMF से बेलआउट की जरूरत होगी।
उधर, PML-N के संस्थापक नवाज शरीफ लगातार आरोप लगा रहे हैं कि PML-N के सांसदों को धमकाया जा रहा है। गौरतलब है कि 1999 में सेना ने तख्तापलट कर उनसे सत्ता छीन ली थी। पंजाब प्रांत से पार्टी के 4 सांसदों ने बताया कि कई अपरिचित लोगों के फोन आ रहे हैं और अजनबी लोग आकर चेतावनी दे रहे हैं कि वह शरीफ से अलग हो जाएं, यही उनके हित में होगा। एक वाकये का जिक्र करते हुए एक सांसद ने कहा, ‘एक शख्स आया और बोला कि आपका बॉस गद्दार है और गद्दारों के लिए देश में कोई जगह नहीं है।’ 

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है