Covid-19 Update

2,18,523
मामले (हिमाचल)
2,13,124
मरीज ठीक हुए
3,653
मौत
33,694,940
मामले (भारत)
232,779,878
मामले (दुनिया)

कोरोना संकट में खुशखबरी : Russian Vaccine का ट्रायल खत्म, 10 अगस्त तक मार्केट में आएगी !

कोरोना संकट में खुशखबरी : Russian Vaccine का ट्रायल खत्म, 10 अगस्त तक मार्केट में आएगी !

- Advertisement -

दुनियाभर में लगातार बढ़ रहे कोरोना मामलों के बीच रूस से अच्छी खबर आई है। रूस के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि उनकी कोरोना वैक्सीन (Corona vaccine) का ट्रायल पूरा हो चुका है। ये वही वैक्सीन है जिसे गामालेया इंस्टीट्यूट ने बनाया है। इसके अलावा दो और कंपनियों ने क्लीनिकल ट्रायल करने की अनुमति मांगी है। बता दें दि गामालेया इंस्टीट्यूट की वैक्सीन को लेकर दावा किया गया था कि यह वैक्सीन 10 अगस्त या उससे पहले बाजार में आ जाएगी। रूस (Russia) के स्वास्थ्य मंत्री मिखाइल मुराश्को ने कहा कि गामालेया की वैक्सीन का ट्रायल पूरा हो चुका है। अब उसके वैज्ञानिकों पर यह निर्भर करता है कि वे वैक्सीन को बाजार में कब लाते हैं। मॉस्को स्थित गामालेया इंस्टीट्यूट के वैज्ञानिकों ने पिछले महीने दावा किया था कि वो अगस्त के मध्य तक कोरोना वायरस की पहली वैक्सीन को मंजूरी दे सकता है। यानी अगले दो हफ्तों में रूस कोरोना वायरस की वैक्सीन बाजार में ला देगा।

यह भी पढ़ें: ऑक्सफर्ड की Vaccine का इंसानों पर ट्रायल कामयाब: सुरक्षित पाई गई, अब अगले फेज में पहुंची

 

 

रूसी अधिकारियों और वैज्ञानिकों ने बताया था कि वे वैक्सीन की मंजूरी के लिए 10 अगस्त या उससे पहले की तारीख पर काम कर रहे हैं। गामालेया इंस्टीट्यूट (Gamalaya Institute) के वैज्ञानिकों का दावा है कि वे इस वैक्सीन को आम जनता के उपयोग के लिए 10 अगस्त तक मंजूरी दिलवा लेंगे, लेकिन सबसे पहले फ्रंटलाइन हेल्थवर्कर्स को दी जाएगी रूस के सोवरन वेल्थ फंड के प्रमुख किरिल मित्रिव ने कहा कि यह ऐतिहासिक मौका है। जैसे हमने अंतरिक्ष में पहला सैटेलाइट स्पुतनिक छोड़ा था। यह वैसा ही मौका है। हालांकि, रूस ने अभी तक वैक्सीन के ट्रायल का कोई डेटा जारी नहीं किया है। इस वजह से इसकी प्रभावशीलता के बारे में टिप्पणी नहीं की जा सकती है।

 

 

अधूरे ह्यूमन ट्रायल को लेकर उठ रहे सवाल

कुछ लोग इस बात की आलोचना भी कर रहे हैं कि वैक्सीन जल्द बाजार में लाने के लिए राजनीतिक दबाव है। इसके अलावा वैक्सीन के अधूरे ह्यूमन ट्रायल (Incomplete human trial) पर भी सवाल उठ रहे हैं। दुनियाभर में दर्जनों वैक्सीन का ट्रायल चल रहा है। कुछ देशों में वैक्सीन का ट्रायल तीसरे चरण में हैं, रूसी वैक्सीन को अपना दूसरा चरण पूरा करना बाकी है। वैक्सीन के डेवलपर ने 3 अगस्त तक इस चरण को पूरा करने की योजना बनाई है। इसके बाद तीसरे चरण का परीक्षण शुरू किया जाएगा। रूसी वैज्ञानिकों का कहना है कि वैक्सीन जल्दी तैयार कर ली गई, क्योंकि यह पहले से ही इस तरह की अन्य बीमारियों से लड़ने में सक्षम है। यही सोच कई अन्य देशों और कंपनियों का है। रूस के रक्षा मंत्रालय का कहना है कि रूसी सैनिकों ने ह्यूमन ट्रायल यानी इंसानी परीक्षण में वॉलंटियर्स के रूप में काम किया है। दावा है कि परियोजना के निदेशक अलेक्जेंडर गिन्सबर्ग ने खुद ये वैक्सीन ली है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है