Covid-19 Update

1,98,313
मामले (हिमाचल)
1,89,522
मरीज ठीक हुए
3,368
मौत
29,419,405
मामले (भारत)
176,212,172
मामले (दुनिया)
×

हिंद महासागर के ऊपर अंतरिक्ष में टूटा Russian Rocket, टुकड़ों से सैटेलाइट्स को खतरा!

हिंद महासागर के ऊपर अंतरिक्ष में टूटा Russian Rocket, टुकड़ों से सैटेलाइट्स को खतरा!

- Advertisement -

नई दिल्ली। अंतरिक्ष में रूस (Russia) को एक बड़ा झटका लगा है। दरअसल अंतरिक्ष में सैटेलाइट (Satellite) लॉन्च करने वाला उसका एक रॉकेट (Rocket) 9 साल के बाद अपनी कक्षा में टूट गया है। रूसी स्पेस एजेंसी रॉसकॉसमॉस ने बताया है कि पिछले एक लॉन्च में इस्तेमाल हुआ और अंतरिक्ष में घूम रहा उसका एक रॉकेट टूट गया, जिसका कचरा कक्षा में फैल गया। उसने कहा कि घटना पिछले हफ्ते हिंद महासागर के ऊपर हुई। इस रॉकेट के 65 टुकड़े पृथ्वी के ऊपर घूम रहे सैटेलाइट्स के लिए खतरा बनकर मंडरा रहे हैं।

यह भी पढ़ें: AIIMS डॉक्टर ने खतरे में डाली जान, Covid-19 मरीज़ की मदद के लिए हटाया अपना सुरक्षा कवच

ये टुकड़े सैटेलाइट्स को नुकसान पहुंचा सकते हैं। सबसे पहले अमेरिकी वायुसेना के एक दल ने इसकी जानकारी दी थी, जिसके मुताबिक ‘Fregat-SB’ 65 हिस्सों में टूटा। 2011 में फ्रेगैट-एसबी (Fregat-SB) रॉकेट ने (स्पेक्टर-आर) Spektr-R सैटलाइट को लॉन्च किया था। यह रूस का जासूसी सैटेलाइट था। लेकिन इसने पिछले साल काम करना बंद कर दिया था। रूसी स्पेस एजेंसी अभी फिलहाल यह जानकारी जुटा रही है कि इसके कितने हिस्से टूटे हैं और धरती पर रॉकेट कहां ऑर्बिट कर रहा है। वहीं, US18 स्पेस कंट्रोल स्क्वाड्रन ने ट्वीट किया, ‘हम इस बात की पुष्टि करते हैं कि Fregat-SB 8 मई 2020 को टूट गया। हमें 65 टुकड़े मिले हैं- हालांकि, किसी तरह के टकराव के संकेत नहीं हैं।’

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है