Covid-19 Update

3,08, 944
मामले (हिमाचल)
302, 438
मरीज ठीक हुए
4167
मौत
44,298,864
मामले (भारत)
598,393,278
मामले (दुनिया)

Russia-Ukraine War:भूखे रूसी सैनिकों ने दुकानों और रिहायशी इमारतों में की लूटपाट

रूसी सेना ने ट्रोस्ट्यानेट्स पर कब्जा कर लिया था

Russia-Ukraine War:भूखे रूसी सैनिकों ने दुकानों और रिहायशी इमारतों में की लूटपाट

- Advertisement -

Russia-Ukraine War:यूक्रेन के सूमी क्षेत्र में, रूसी सेनाएं ट्रॉस्ट्यानेट शहर में लूटपाट और डकैती में लगी हुई हैं। सूमी ओवीए के प्रमुख डिमित्री जि़वित्स्की ने इसकी घोषणा की। एनवी यूक्रेन की रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने कहा, ” रूसी सेना जमकर लूटपाट कर रही है। रूसी संघ की सेना भूखी है, वे न केवल भोजन स्टालों को घेरना जारी रख रहे हैं, बल्कि पहले से ही लोगों के घरों में चढ़ रहे हैं। अक्सर ऐसा होता है कि वे घरों में जाते हैं, लोगों को बाहर निकालते हैं और उनसे भोजन और कपड़े ले रहे हैं।” जि़वित्स्की के अनुसार, हमलावरों ने नागरिक कपड़ों में बदलने के लिए एक सैकेंड हैंड की दुकान को लूट लिया। उन्होंने कहा, “हमें संदेह है कि इसमें वे अपने वतन वापस जाना चाहते हैं।”इससे पहले, यह ज्ञात हो गया था कि रूसी सेना ने ट्रोस्ट्यानेट्स पर कब्जा कर लिया था। रिपोर्ट में कहा गया है कि उन्होंने राउंड यार्ड के गेट को एक टैंक से ध्वस्त कर दिया, आर्ट गैलरी को तोड़ा और ‘मुख्यालय’ बनाया।

 यह भी पढ़ें-Russia-Ukraine War:खेरसन शहर पर रूस का कब्जा, सात लाख लोगों ने छोड़ा यूक्रेन

यूक्रेन के इलाकों में पुलिस अब शराब पीकर गाड़ी चलाने वालों से कार छीन कर सेना को देगी। निकोलेव क्षेत्रीय राज्य प्रशासन के प्रमुख विटाली किम ने कहा कि बुधवार, 2 मार्च से पुलिस सेना की जरूरतों के लिए शराब के नशे में वाहन चालकों से कार छीन लेगी ।एनवी की रिपोर्ट के अनुसार, इसकी घोषणा उन्होंने टेलीग्राम पर की। प्रशासन के प्रमुख ने कहा, “हमारे पास सेना के लिए, आवाजाही के लिए, गतिशीलता के लिए पर्याप्त कारें नहीं हैं। उद्यमों ने पहले ही सब कुछ दे दिया है।” किम ने जोर देते हुए कहा कि बुधवार सुबह 2 मार्च से गश्ती पुलिस के पास शराब पीकर गाड़ी चलाने वालों से अपरिवर्तनीय रूप से सेना की जरूरतों के लिए कार लेने का अधिकार है।


यूक्रेन की मदद के लिये विश्व बैंक और आईएमएफ ने बढ़ाया हाथ

रूस से जारी युद्ध के बीच यूक्रेन की आर्थिक मदद के लिये विश्व बैंक और अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) सामने आये हैं। चीन की संवाद समिति शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार दोनों अंतराष्ट्रीय संगठन वित्तीय और नीतिगत मोर्चे पर यूक्रेन की सहायता करेंगे।आईएमएफ की प्रबंध निदेशक क्रिस्टैलीना जॉर्जिवा और विश्व बैंक के समूह अध्यक्ष डेविड मैल्पस ने संयुक्त बयान जारी करते हुये कहा है कि युद्ध के कारण जिंसों के दाम बढ़ गये हैं और अभी महंगाई के अधिक बढ़ने की संभावना है। इससे गरीबों को सबसे अधिक परेशानी होगी।उन्होंने कहा है कि रूस-यूक्रेन के बीच की स्थिति अगर जारी रहती है तो इससे वित्तीय बाजार में अस्थिरता का माहौल बना रहेगा। इसके अलावा गत कुछ दिनों में घोषित प्रतिबंधों का भी आर्थिक परिदृश्य पर प्रभाव दिखेगा।दोनों संगठन फिलहाल स्थिति का आंकलन कर रहे हैं और मौजूदा स्थिति से निपटने के नीतिगत पहलू पर अपने अंतर्राष्ट्रीय साझेदारों से चर्चा कर रहे हैं।यूक्रेन ने आईएमएफ से मांग की थी कि वह आपात वित्तीय सहायता प्रदान करे। आईएमएफ बोर्ड इसके बारे में अगले सप्ताह विचार कर सकता है।विश्व बैंक आने वाले महीनों में यूक्रेन को तीन अरब डॉलर का पैकेज देने की तैयारी कर रहा है। इस पैकेज के तहत 35 करोड़ डॉलर की पहली किश्त का अनुमोदन विश्व बैंक बोर्ड संभवत: इसी सप्ताह कर देगा। इसके बाद 20 करोड़ डॉलर का पैकेज स्वास्थ्य एवं शिक्षा क्षेत्र के लिये जारी किया जायेगा।

–आईएएनएस

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है