Covid-19 Update

59,059
मामले (हिमाचल)
57,473
मरीज ठीक हुए
984
मौत
11,210,799
मामले (भारत)
117,078,869
मामले (दुनिया)

तेंदुलकर ने इन दो लड़कियों से दाढ़ी बनवाकर दी ‘जिलेट स्कॉलरशिप’

तेंदुलकर ने इन दो लड़कियों से दाढ़ी बनवाकर दी ‘जिलेट स्कॉलरशिप’

- Advertisement -

नई दिल्ली। क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने महिला हज्जाम (Female barber) नेहा और ज्योति से पहली बार दाढ़ी बनवाई। इससे उन्होंने भारत के लोगों के मन में छपी लिंग भेद की रूढिवादिता पर भी मिसाल पेश की है। उन्होंने इन दोनों लड़कियों को ‘जिलेट स्कॉलरशिप’ (‘Gillette Scholarship’) से भी सम्मानित किया।

यह भी पढ़ें- आफरीदी की टिप्पणी पर गंभीर ने दिया जवाब, कहा- मनोचिकित्सक के पास ले जाने की जरूरत

तेंदलुकर ने इन लड़कियों से शेव करवाने के बाद अपने इंस्टाग्राम (Instagram) पर पोस्ट शेयर की। अपनी पोस्ट में उन्होंने लिखा, आप शायद इसे नहीं जानते, लेकिन मैंने कभी भी किसी से शेव नहीं बनवाई। आज यह रिकॉर्ड (Record) टूट गया। इन महिला हज्जाम से मिलना सम्मान की बात है।’ उन्होंने जो स्कॉलरशिप (Scholarship) लड़कियों को दी है उसमें उनकी शैक्षिक और पेशेवर जरूरतों का ध्यान रखा जाएगा।

यह भी पढ़ें- इस वजह से मैदान पर गुस्सा हो गए कप्तान कार्तिक, खुद बताई वजह

बता दें, उत्तर प्रदेश (UP) के बनवारी तोला गांव की नेहा और ज्योति ने अपने पिता के बीमार होने के बाद 2014 में उनकी जिम्मेदारी संभाली थी। इस दौरान उनकी जिंदगी में कई परेशानियां भी आईं लेकिन जिलेट इंडिया के विज्ञापन (Advertisement) में उनकी कहानी को दिखाया गया, जिसे लोग काफी पसंद कर रहे हैं। इस विज्ञापन को यू-ट्यूब को 1.60 करोड़ लोगों ने देखा है। इसके बाद ही तेंदुलकर ने इन दोनों से दाढ़ी बनवाने का फैसला लिया।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Like करें हिमाचल अभी अभी का Facebook Page…. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है