Covid-19 Update

58,879
मामले (हिमाचल)
57,406
मरीज ठीक हुए
983
मौत
11,156,748
मामले (भारत)
115,765,405
मामले (दुनिया)

केसर के गुण जान कर चौंक जाएंगे आप

केसर के गुण जान कर चौंक जाएंगे आप

- Advertisement -

केसर गुणों में अमृत के समान हैं और इसके इन्ही गुणों की वजह से ये सोने के दाम पर बिकता हैं। आयुर्वेदों के अनुसार केसर उत्तेजक होती है और कामशक्ति को बढ़ाती है। यह मूत्राशय, तिल्ली, यकृत (लीवर), मस्तिष्क व नेत्रों की तकलीफों में भी लाभकारी होती है। प्रदाह को दूर करने का गुण भी इसमें पाया जाता है। केसर की रासायनिक बनावट का विश्लेषण करने पर पता चला हैं कि इसमें तेल 1.37 प्रतिशत, आर्द्रता 12 प्रतिशत, पिक्रोसीन नामक तिक्त द्रव्य, शर्करा, मोम, प्रोटीन, भस्म और तीन रंग द्रव्य पाएं जाते हैं।

अनेक खाद्य पदार्थो में केसर का उपयोग रंजन पदार्थ के रूप में किया जाता है। स्वास्थ्य को मिलने वाले केसर के फायदे से सभी परिचित हैं। केसर सौंदर्य निखारने में सहयोगी है, इसलिए सुंदर एवं गोरे बच्चे को पाने के लिए गर्भवती महिलाएं अपने आहार में केसर को शामिल करना पसंद करती हैं।केसर को अन्य कई नामों से जाना जाता है, जैसे कुंकुम, जाफरान अथवा सैफ्रन। गौरतलब है कि केसर भारतीय पदार्थ नहीं है, इसका मूल स्थान दक्षिण यूरोप है, हालांकि इसकी खेती स्पेन, इटली, ग्रीस, तुर्किस्तान, ईरान, चीन तथा भारत में होती है। भारत में यह केवल जम्मू (किस्तवाड़) तथा कश्मीर (पामपुर) के सीमित क्षेत्रों में पैदा होती है। वहां की जलवायु केसर के लिए उपजाऊ है, इसके अलावा इसे किसी भी अन्य भारतीय राज्य में उगाना नामुमकिन ही है।

इतिहासकारों के मुताबिक एक बार केसर को लेकर दो देशों के बीच युद्ध भी हुआ था। सन् 1374 में स्विट्जरलैंड और ऑस्ट्रिया के बीच केसर की वजह से युद्ध हुआ था जो 15 हफ्तों तक चला था। यह युद्ध काफी चर्चित है जिसे ‘सैफ्रान वार’ के नाम से जाना जाता है। केसर के प्रयोग से त्वचा को फायदा होता है, यदि चंदन में मिलाकर लेप बनाया जाए तो इसे लगाने से त्वचा को ठंडक मिलती है। इसी तरह का लेप सिरदर्द एवं थकान दूर करने के लिए भी अच्छा माना जाता है। केसर के प्रयोग से पाचन शक्ति बढ़ती है एवं गैस या एसिडिटी जैसी समस्या कम रहती है। यदि घर में बच्चों को सर्दी-जुकाम हो जाए, तो केसर का दूध देना चाहिए, फायदेमंद होता है। यदि किसी को नींद न आने की बीमारी है, तो उसके लिए सबसे अच्छा इलाज है केसर। अनिद्रा की शिकायत को दूर करने में भी केसर काफी उपयोगी होता है। इसके साथ ही यह अवसाद को भी दूर करने में मदद करता है। रात को सोने से पहले दूध में केसर डालकर पीने से अनिद्रा की शिकायत दूर होती है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है