Covid-19 Update

2,01,049
मामले (हिमाचल)
1,95,289
मरीज ठीक हुए
3,445
मौत
30,067,305
मामले (भारत)
180,083,204
मामले (दुनिया)
×

#JammuKashmir : सज्जाद लोन के अलग होने से गुपकार के वजूद पर मंडराया खतरा

गठबंधन से अलग होने पर फारूक अब्दुल्ला को लिखी चिट्ठी

#JammuKashmir : सज्जाद लोन के अलग होने से गुपकार के वजूद पर मंडराया खतरा

- Advertisement -

जम्मू। जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में गुपकार (Gupkaar) में हाहाकार मच गया है। पीपुल्स एलांयस फॉर गुपकार डिक्लेयरेशन यानी पीएजीडी (PAGD) से सज्जाद गनी लोन (Sajjad Lone) किनार कर चुके हैं। लोन के पीएजीडी से किनारा करने के बाद अब गुपकार का भविष्य (Gupkaar future) भी खतरे में पड़ गया है। बताया जा रहा है कि अब पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) भी इसमें खुद को असहज महसूस कर रही हैं। बता दें कि पीएजीडी का मुख्य मकसद जम्मू-कश्मीर (Jammur-Kashmir) में पहले जैसी संवैधिनक स्थिति को बहाल करना है। इसी मकसद से गुपकार एलांयस का गठन हुआ था।

यह भी पढ़ें: महबूबा के ‘तिरंगा बयान’ से खफा हुआ उन्हीं की पार्टी के नेता: 3 ने दिया इस्तीफा, NC ने भी किया किनारा

डीडीसी चुनाव पर टिप्पणी करते हुए सज्जाद लोन ने कहा था कि इस गठबंधन को त्याग की जरूरत थी, लेकिन कोई भी पार्टी जगह देने के लिए ही तैयार नहीं है और ना ही कोई त्याग करना चाहता है। ये कहते हुए पीपल्स कॉन्फ्रेंस के नेता सज्जाद गनी लोन ने खुद को पीएजीडी से बाहर करने का ऐनाल किया था। इसके साथ ही अब गुपकार गठबंधन के वजूद पर भी खतरा मंडरा गया है। लोन ने पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला को इस बाबत एक लैटर भी लिखा और जीएपीडी से अलग होने की वजह भी बताईं।


आपको बता दें कि गुपकार में छह दलों का गठबंधन है। इसका गठन पिछले साल ही किया गया था। पीएजीडी में नेशनल कॉन्फ्रेंस, पीडीपी सहित कुल मिलाकर छह दल थे। इसमें से अब सज्जाद लोन की पार्टी अलग हो चुकी है। ऐसे में घटक दलों के छिटकने के बाद अब गुपकार के वजूद पर भी खतरा मंडराता नजर आ रहा है। दरअसल सभी दलों ने जम्मू-कश्मीर में पुरानी स्थिति बहाल ना होने तक चुनाव ना लड़ने का ऐलान किया था, लेकिन डीडीसी चुनाव में सभी ने अपने उम्मीदवार चुनाव में उतार दिए। इससे अब गठबंधन में दरार बढ़ गई है।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है